menu-icon
India Daily
share--v1

इतने ट्रैफिक में पुलिस वाले कैसे खींच लेते हैं आपके नंबर प्लेट की क्लियर पिक्चर? यहां जानें

How Policeman Take Clear Photograph: क्या आपने कभी ये सोचा है कि पुलिसवाले आखिर कैसे आपकी कार की नंबर प्लेट की फोटो इतनी क्लियर कैसे खींच लेते हैं? नहीं पता है तो चलिए बताते हैं.

auth-image
India Daily Live
How Policeman Take Clear Photograph
Courtesy: Social Media

How Policeman Take Clear Photograph: आपने ये तो देखा ही होगा कि आजकल ट्रैफिक पुलिस लोगों की कार और बाइक की फोटो खींचकर चालान कर देते हैं. आपके साथ भी कई बार ऐसा हुआ होगा. लेकिन क्या आपने ये सोचा है कि आखिर इतने ट्रैफिक में भी पुलिस वाले कैसे इतनी क्लियर पिक्चर खींच लेते हैं. जबकि हम अगर इतने ट्रैफिक में फोटो खींचने की कोशिश करें तो फोटो ब्लर आती है. ऐसे में हम आपको ये बता रहे हैं कि पुलिस वाले किन टेक्नीक का इस्तेमाल कर फोटो खींचते हैं और चालान कर देते हैं.  

1. ऑटोमैटिक नंबर प्लेट पहचान (ANPR) कैमरे:

  • हाई-रेजोल्यूशन कैमरे: ये कैमरे लाइसेंस प्लेटों की क्लियर इमेज खींचने के लिए डिजाइन किए गए हैं. भले ही गाड़ी की स्पीड कितनी भी तेज हो, ये कैमरा उनकी साफ पिक्चर खींच सकते हैं जिसमें कार के नंबर को ठीक से पढ़ा जा सके.

  • इन्फ्रारेड लाइटिंग: ANPR सिस्टम अक्सर कम रोशनी या रात की स्थिति में लाइसेंस प्लेटों को क्लियर दिखाने के लिए इन्फ्रारेड लाइटिंग का इस्तेमाल करते हैं.

  • इमेज प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर: इस तरह के सॉफ्टवेयर एल्गोरिदम लाइसेंस प्लेट नंबरों को पहचानने और पढ़ने के लिए कैप्चर की गई फोटोज को ऑटोमैटिकली प्रोसेस करते हैं.

2. स्पीड कैमरे:

  • रडार और LIDAR सिस्टम: ये डिवाइस किसी व्हीकल की स्पीड को मापते हैं और जब कोई व्हीकल स्पीड लिमिट से ज्यादा हो जाता है तो उसकी फोटो ले लेते हैं.

  • हाई-स्पीड फोटोग्राफी: हाई-स्पीड फोटोग्राफ लेने के लिए इस तरह के कैमरा बनाए जाते हैं जो तेज स्पीड वाले व्हीकल्स की भी क्लियर पिक्चर ले सकते हैं.

  • ड्यूल फोटोग्राफी सिस्टम: कुछ सिस्टम फास्ट स्पीड से चलने वाले व्हीकल्स और उसकी लाइसेंस प्लेट को साफ तरह से दिखाने के लिए दो फोटोज लेते हैं.

3. रेड लाइट कैमरा:

  • इंडक्टिव लूप सेंसर: ये सेंसर चौराहों पर सड़क पर लगाए जाते हैं और जब लाल बत्ती के बाद कोई व्हीकल उनके ऊपर से गुजरता है तो कैमरा ऑन हो जाता है.
  • वाइड-एंगल लेंस: वाइड-एंगल लेंस वाले कैमरे चौराहे का वाइड सीन कैप्चर करते हैं.
  • मल्टीपल एंगल: कुछ सिस्टम व्हीकल को अलग-अलग एंगल से कैप्चर किया जाता है जिससे लाइसेंस प्लेट ठीक से कैप्चर हो पाए.

4. मोबाइल एनफोर्समेंट यूनिट:

  • पोर्टेबल कैमरे: ट्रैफिक पुलिस ट्राइपॉड या हैंडहेल्ड डिवाइस पर लगे पोर्टेबल कैमरों का इस्तेमाल करती है. इनका इस्तेमाल अलग-अलग स्थानों पर किया जाता है.

  • बॉडी कैमरा: पुलिसकर्मी बॉडी कैमरा पहन सकते हैं जिसका इस्तेमाल ट्रैफिक स्टॉप या गश्त के दौरान ट्रैफिक तोड़ने वालों को कैप्चर करने के लिए किया जा सकता है.

5. पेट्रोल व्हीकल्स पर डैश कैमरा:

पुलिस व्हीकल अक्सर डैश कैमरों से लैस होते हैं जो लगातार ट्रैफिक रिकॉर्ड करते हैं, जिससे गश्त के दौरान अगर कोई ट्रैफिक रूल तोड़ते हुए देखा जाता है तो ये उसके खिलाफ सबूत का काम करता है.