menu-icon
India Daily
share--v1

Financial Fraud Helpline Number: मात्र 3 महीने में करीब 22 करोड़ रुपये बचाने में मिली मदद, इस नंबर ने की मदद

साइबर फ्रॉड से बचने के लिए लोग कई काम करते हैं. इन्हीं में से तरीका है साइबर क्राइम हेल्पलाइन 1930. इस पर कॉल कर आप फाइनेंशियल फ्रॉड की रिपोर्ट कर सकते हैं. 

auth-image
India Daily Live
Financial Fraud Helpline Number

Financial Fraud Helpline Number 1930: जरा सोचिए, किसी के साथ साइबर फ्रॉड हो और उसका पैसा वापस मिल जाए तो कितना अच्छा होगा. लेकिन क्या ऐसा हो सकता है? जी हां, ऐसा हो सकता है. बाता दें कि नेशनल साइबर क्राइम हेल्पलाइन 1930 ने इस बात को सच कर दिखाया है. इस हेल्पलाइन ने लोगों के हुए नुकसान को काफी हद तक रोका है. इससे पहले तक इस हेल्पलाइन पर कॉल का जवाब देने में काफी समय लगता था. लेकिन अब यह सर्विस काफी बेहतर हुई है. 2024 के पहले तीन महीनों में, हेल्पलाइन ने अकेले मुंबई में धोखाधड़ी वाले लेनदेन में 22 करोड़ रुपये से ज्यादा ब्लॉक किए हैं. जबकि पूरे 2023 में करीब 26.5 करोड़ रुपये ब्लॉक किए थे. 

छोटी टीम से कैसे बनी बड़ी टीम: इस हेल्पलाइन को मई 2022 में शुरू किया गया था. शुरुआत में इसकी दो अधिकारियों और छह कांस्टेबलों की एक छोटी टीम थी. हालांकि, जैसे-जैसे रिपोर्ट किए गए मामलों की संख्या बढ़ी, मई 2023 में मुंबई में टीम को 23 (तीन अधिकारी और 20 कांस्टेबल) तक बढ़ा दिया गया. इस हेल्पलाइन को जब से शुरू किया गया है तब से लेकर अब तक इसे लोगों ने काफी इस्तेमाल किया है जिसके चलते इस टीम की संख्या 50 तक हो गई है. यह सर्विस 24|7 है.

पुलिस का कहना है, ''समय बहुत अहम है. जितनी जल्दी शिकायत दर्ज की जाएगी, चोरी हुए पैसे वापस मिलने की संभावना उतनी ही ज्यादा होगी." पुलिस का कहना है कि फाइनेंशियल फ्रॉड में फंसे लोगों को क्विक और इंस्टैंट रिस्पॉन्स मिलेगा. अलग-अलग राज्य सरकार के पुलिस डिपार्टमेंट और साथ ही प्राइवेट और सरकारी दोनों बैंक अपने ग्राहकों को फाइनेंशियल फ्रॉड की रिपोर्ट करने के लिए इस हेल्पलाइन पर कॉल करना होगा. कॉल करने के बाद आपको सभी डिटेल्स देनी होंगी जिससे पुलिस आपकी बेहतर मदद कर पाएगी.