share--v1

UP Police भर्ती हो या RO/ARO, हर पेपर लीक का एक ही सरगना! कौन है राजीव नयन मिश्रा?

UP Paper Leak Case: यूपी में पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती और आरओ-एआरओ भर्ती परीक्षा पेपर लीक केस में यूपी एसटीएफ को बड़ी कामयाबी मिली है और मुख्य सरगना को गिरफ्तार कर लिया गया है.

auth-image
India Daily Live
Courtesy: Social Media

उत्तर प्रदेश, राजस्थान और बिहार में बीते एक साल में कई परीक्षाओं के पेपर लीक हुए हैं. हाल ही में उत्तर प्रदेश पुलिस कॉन्स्टेबल परीक्षा और UPPSC RO/ARO परीक्षा  को इसी के चलते निरस्त कर दिया गया था. अब उत्तर प्रदेश STF को बड़ी कामयाबी मिली है. STF ने इस पेपर लीक गिरोह के मास्टरमाइंड राजीव नयन मिश्रा को दबोच लिया है. राजीव को पहले भी ऐसे मामलों में गिरफ्तार किया जा चुका है और वह जेल की हवा भी खा चुका है. इससे पहले, पेपर लीक मामले में कई दर्जन आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया है.

STF की टीम ने राजीव नयन मिश्रा को नोएडा के परी चौक से गिरफ्तार किया और अब उसे मेरठ ले जाया गया है. बता दें कि तमाम आरोपियों की गिरफ्तारी के बावजूद राजीव नयन मिश्रा फरार चल रहा था. राजीव नयन पर आरोप है कि उसने पेपर लीक करवाने की साजिश रची, पैसे लेकर पेपर लीक करवाया और कई लोगों को ये पेपर उपलब्ध भी करवाए.

कौन है राजीव नयन मिश्रा?

राजीव नयन मिश्रा मूलरूप से उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले के अमोरा गांव का रहने वाला है. फिलहाल वह मध्य प्रदेश के भोपाल में रह रहा था. उसके खिलाफ आईपीसी की धाराओं 420, 467, 471 और 120बी के तहत मेरठ में केस दर्ज किया गया था. गिरफ्तार किए गए अन्य आरोपियों ने भी राजीव का नाम लिया है. कुछ आरोपियों ने बताया है कि राजीव ने गुरुग्राम और रीवा समेत कई अन्य जगहों पर परीक्षार्थियों को इकट्ठा किया था और उन्हें पेपर पढ़वाया था.

इससे पहले, UPTET पेपर लीक केस और NHM घोटाले में भी वह जेल जा चुका है. पेपर लीक से जुड़े मामलों में अभी तक 300 से ज्यादा आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं. बता दें कि 17,18 फरवरी को हुई यूपी कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा से कुछ घंटे पहले ही पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. इसके बाद पेपर रद्द करके इसकी जांच एसटीएफ को सौंप दी गई थी.

Also Read