menu-icon
India Daily
share--v1

'तूने सूर्या को आउट नहीं किया...', सिद्धू ने सौरभ नेत्रवलकर से पूछ लिया मजेदार सवाल

भारत के खिलाफ खेले गए टी20 मुकाबले में सौरभ नेत्रवलकर ने रोहित शर्मा और विराट कोहली का विकेट लिया था. हालांकि उन्होंने इस मुकाबले में शानदार बल्लेबाजी करने वाले सूर्यकुमार यादव का कैच छोड़ दिया. अगर वह सूर्यकुमार का कैच लपक लेते तो इस मैच का परिणाम कुछ और हो सकता था.

auth-image
India Daily Live
 Saurabh Netravalkar
Courtesy: social media

T20 World Cup: टी20 विश्व कप के रोमांचक मुकाबले बुधवार को भारत ने अमेरिका को हराकर सुपर-8 में एंट्री की. टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी अमेरिकी टीम कुछ खास नहीं कर सकी और 20 ओवरों में मात्र 110 रन ही बना सकी.  वहीं रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम शुरुआत में थोड़ी लड़खड़ाती हुई जरूर नजर आई लेकिन फिर ऋषभ पंत, सूर्यकुमार यादव और शिवम दुबे ने टीम इंडिया का बेड़ा पार लगा दिया.

इस मुकाबले में अमरेका के गेंदबाज सौरभ नेत्रवलकर ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 2 बड़े विकेट झटके लेकिन उनके द्वारा सूर्यकुमार यादव को जीवनदान देना महंगा पड़ गया. अगर सौरभ नेत्रवलकर सूर्यकुमार यादव का कैच लपक लिए होते तो मैच का रुख पलट सकता था क्योंकि भारत को इस मैच को जिताने में सूर्यकुमार यादव की बड़ी भूमिका रही. उन्होंने इस मुकाबले में नाबाद 50 रन बनाए.

सिद्धू ने ली सौरभ की फिरकी
अब सौरभ की इस बात को लेकर फिरकी ली जा रही है कि उन्होंने इस मैच में दोस्ती निभाते हुए अपने दोस्त सूर्यकुमार का कैच छोड़ दिया.

मैच के बाद कमेंटेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने सौरभ से यह सवाल भी किया. उन्होंने सौरभ से पूछा, 'दोस्त तुम इंजीनियर भी हो, गेंदबाजी भी अच्छी करते हो लेकिन तुमने अपने दोस्त सूर्यकुमार को आउट नहीं किया.' इस पर सौरभ ने कहा कि सूर्यकुमार का कैच छोड़ना काफी भारी पड़ गया.


बता दें कि 13वें ओवर की चौथी गेंद पर सूर्यकुमार यादव ने स्क्वायर लेग के ऊपर से शॉट खेला तभी नेत्रावलकर शॉर्ट थर्ड मैन की तरफ भागे और कैच लपकने की कोशिश की लेकिन वह कैच नहीं लपक सके. जीवनदान मिलने के बाद सूर्यकुमार ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और शानदार अर्धशतक ठोंकते हुए भारतीय टीम की जीत की इबारत लिख दी.

मालूम हो कि सौरभ नेत्रवलकर भारतीय मूल के खिलाड़ी हैं. वह भारतीय टीम की अंडर-19 टीम का भी हिस्सा रह चुके हैं. उन्होंने खुद कहा कि वह कई भारतीय खिलाड़ियों के साथ बचपन से खेले हैं.