menu-icon
India Daily
share--v1

आखिर किसका गुलाम हुआ करता था सुपर पावर अमेरिका? कैसे मिली आजादी

US Independence: आज दुनिया पर राज करने वाला अमेरिका एक समय पर खुद किसी दूसरे देश का गुलाम हुआ करता था. उसे लंबे समय तक संघर्ष करना पड़ा तब जाकर आजादी मिली.

auth-image
India Daily Live
US
Courtesy: Social Media

दुनिया में अपना दबदबा कायम करने वाले देश अमेरिका के एक कदम से पूरा विश्व प्रभावित होता है. अमेरिका आज की महाशक्ति है और कई दशकों से सुपर पावर रहा है. भारत की तरह अमेरिका भी एक समय गुलाम था. अमेरिका ने भी अपनी आजादी के लिए लड़ाई लड़ी है. भारत की तरह ही अमेरिका भी एक समय पर ब्रिटिश साम्राज्य का गुलाम था. कई सालों तक संघर्ष करने के बाद अमेरिका को आजादी मिली और वह एक नए रूप में दुनिया के सामने आया.

क्रिस्टोफर कोलंबस जब भारत की खोज के लिए रवाना हुए तब वह गलती से भारत की जगह अमेरिका पहुंच गए थे. यूरोप में चल रही व्यापार की होड़ ने यूरोप के लोगों में अमेरिका के प्रति दिलचस्पी बढ़ा दी थी. उस समय ब्रिटेन ने कई देशों में अपनी कॉलोनी बसा रखी थी और उन्हें अपना गुलाम बना लिया था. उसने गुलाम देशों के संसाधनों पर अपना कब्जा जमा रखा था. 

कैसे गुलाम बना अमेरिका?

दरअसल, ब्रिटेन ने अमेरिका में व्यापार शुरू किया और फिर धीरे-धीरे वहां के लोगों को गुलाम बनाने लगा. अमेरिका और ब्रिटेन के बीच टकराव की प्रमुख वजह अमेरिका के प्रांतों और ब्रिटिश साम्राज्य के नियमों में अंतर था. इसका नतीजा यह हुआ कि अप्रैल 1775 में अमेरिकी क्रांति शुरू हुई. एक साल से ज्यादा समय तक संघर्ष चला और 4 जुलाई 1776 को अमेरिका आजाद हो गया. इसी आजादी की खुशी में अमेरिका हर साल 4 जुलाई को अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है. 

अमेरिका की आजादी के बाद विश्व में एक लिखित संविधान के साथ पहली लोकतांत्रिक सरकार की नींव रखी गई. अमेरिका की लड़ाई में अपनी अग्रणी भूमिका निभाने वाले जॉर्ज वॉशिंगटन को अमेरिका का पहला राष्ट्रपति बनाया गया. उन्हीं के नाम पर अमेरिका की राजधानी का नाम वॉशिंगटन डी. सी. रखा गया. अमेरिका को आजादी मिलने की सबसे बड़ी वजह यह रही कि अमेरिकी क्रांति में इंग्लैंड को किसी दूसरे देश का सहयोग नहीं मिला. वहीं, अमेरिका को फ्रांस, हॉलैंड और स्पेन ने जमकर मदद की. 

इसके आलावा, इंग्लैंड में योग्य राजनीतिज्ञों की कमी थी, जो युध्द को सही ढंग से संचालित नहीं कर सके. इंग्लैड ने अपनी ताकत के घमंड के चलते अमेरिकी उपनिवेश की शक्ति को अपने से कम आंका. नतीजा यह हुआ कि अमेरिका में चल रहे मुकाबले में उसने ज्यादा जोर नहीं लगाया और अमेरिका उसके हाथ से निकल गया. अमेरिकी क्रांति ने अमेरिका को विश्व का पहला राष्ट्र बना दिया जिसने उस समय मौजूद राजतंत्रात्मक व्यवस्था को उखाड़कर जनतंत्रात्मक शासन को अपनाया.