menu-icon
India Daily
share--v1

Israel Hamas War: 'ऐसे ही होते रहेंगे हमले.. , हमारी जमीनें दशकों से उनके कब्जे में' हमास नेता की इजरायल को धमकी

Israel Hamas War: हमास के एक प्रमुख नेता ने कहा है कि इजरायल पर सात अक्टूबर जैसे हमले बार-बार होते रहेंगे. इजरायल ने उनकी जमीन कब्जाई है, उस जमीन पर उनका कोई हक नहीं है. हमास के पॉलिटकल ब्यूरो के मेंबर गाजी हामद ने बुधवार को एक साक्षात्कार में यह बातें कहते हुए इजरायल को धमकी दी.

auth-image
Shubhank Agnihotri
Israel Hamas War: 'ऐसे ही होते रहेंगे हमले.. , हमारी जमीनें दशकों से उनके कब्जे में' हमास नेता की इजरायल को धमकी

Israel Hamas War: हमास के एक प्रमुख नेता ने कहा है कि इजरायल पर सात अक्टूबर जैसे हमले बार-बार होते रहेंगे. इजरायल ने उनकी जमीन कब्जाई है, उस जमीन पर उनका कोई हक नहीं है. हमास के पॉलिटकल ब्यूरो के मेंबर गाजी हामद ने बुधवार को एक साक्षात्कार में यह बातें कहते हुए इजरायल को धमकी दी. एलबीसी 24 को दिए गए एक इंटरव्यू में हमास कमांडर ने कहा कि हम ऐसा बार-बार करते रहेंगे. ऑपरेशन अक-अक्सा फ्लड बस एक शुरुआत है. इस इंटरव्यू को मिडिल ईस्ट मीडिया रिसर्च इंस्टीटयूट ने बुधवार को जारी किया है.


ऑपरेशन अक्सा-फ्लड महज शुरुआत

हमास कमांडर ने अपने साक्षात्कार में कहा कि हमें इजरायल को सबक सिखाना ही होगा.सात अक्टूबर जैसा हमला फिर से होगा और कई बार होगा. इजरायल का अस्तित्व बेकार का है . हामद ने कहा कि इजरायल का अस्तित्व अरब और इस्लामिक देशों की सुरक्षा और राजनीति के लिए तबाही जैसी है. हम यह बात जानते हैं कि हमें भी इस जंग की कीमत चुकानी होगी लेकिन हम इसके लिए तैयार हैं. फिलिस्तीन को शहीदों का देश कहा जाता है और हम शहीद होने के लिए तैयार हैं.  

हमास के खात्मे तक सीजफायर नहीं

हमास कमांडर ने आगे कहा कि हम बीते 75 सालों से इजरायली कब्जे से पीड़ित हैं. सात अक्टूबर को जो भी हुआ वह सही है. हमास का मकसद कभी भी आम नागरिकों को नुकसान पहुंचाने का नहीं रहा है. लेकिन हमारे सामने जमीनी हमले में कई कठिनाइयां थीं. हामद का यह इंटरव्यू सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर हो रहा है. व्हाइट हाउस के नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने हमास के इस बयान की निंदा की है. अमेरिकी राष्टपति पद की उम्मीदवार निक्की हेली ने कहा कि जब तक हमास का खात्मा न हो जाए तब तक सीजफायर न हो.

 

Israel hamas (1)
 

हमारी मस्जिद को अपवित्र करने का बदला

हमास ने इजरायल के खिलाफ अपने ऑपरेशन को 'अल-अक्सा फ्लड' नाम दिया है. दरअसल, इजरायली पुलिस ने अप्रैल 2023 में अल-अक्सा मस्जिद में ग्रेनेड फेंके थे. अल-अक्सा मस्जिद की देखरेख की जिम्मेदारी जॉर्डन के पास है. इस मस्जिद को मुस्लिमों का तीसरा सबसे पवित्र स्थल माना जाता है, लेकिन यहूदी इसे अपना मंदिर बताते हैं. इस कारण मस्जिद को लेकर हमेशा से विवाद रहा है. इजरायल पर हमले की शुरुआत के दौरान हमास के सैन्य कमांडर मोहम्मद डेफ ने कहा था कि यह हमला अल अक्सा मस्जिद को इजरायल की ओर से अपवित्र करने का बदला है. 
 

 

यह भी पढ़ेंः China Taiwan Ties: चीन की तानाशाही जारी, ताइवान बॉर्डर पर भेजे अपने दर्जनों फाइटर जेट