share--v1

हाड़ कंपा देने वाली ठंड में रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने लगाई बर्फीले पानी में डुबकी, जानें क्या है वजह  

Epiphany Festival: क्रेमलिन के स्पोक्सपर्सन दिमित्री पेसकोव के हवाले से बताया गया है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने ठंडे पानी में डुबकी लगाकर एपिफेनी का फेस्टिवल मनाया.

auth-image
Shubhank Agnihotri

हाइलाइट्स

  • सुरक्षा के कारण नहाने की जगह स्पष्ट नहीं
  • इससे पहले भी लगा चुके हैं डुबकी 

Epiphany Festival: क्रेमलिन के स्पोक्सपर्सन दिमित्री पेसकोव के हवाले से बताया गया है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने ठंडे पानी में डुबकी लगाकर एपिफेनी का फेस्टिवल मनाया. जानकारी के मुताबिक, पूरे रूस में इस रूढिवादी त्यौहार को मनाने के लिए नहाने वाली जगहें बनाई गई थीं. रूस में यह फेस्टिवल 19 जनवरी को मनाया गया. 

सुरक्षा के कारण नहाने की जगह स्पष्ट नहीं

रिपोर्ट के अनुसार, साइबेरियाई क्षेत्रों में तापमान - 22 डिग्री सेल्सियस तक नीचे गिर गया है. इन क्षेत्रों में भी नहाने वाले स्पॉट बन गया था. पुतिन ने इस दौरान किस जगह डुबकी लगाई. यह सुरक्षा की वजह से नहीं बताया गया है. रूस में इस दौरान हाड़ कंपा देने वाली ठंड पड़ रही है फिर भी पुतिन ने पानी में डुबकी लगाई है.


इससे पहले भी लगा चुके हैं डुबकी 

मॉस्को टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पेस्कोव ने रूसी राष्ट्रपति के एपिफेनी फेस्टिवल के बीच में डुबकी लगाई की पुष्टि की है. इससे पहले पुतिन ने 2018 में पुतिन ने नॉर्थ-वेस्ट रूस में सेलिगर झील पर बर्फ में बने एक होल के पास जाते देखा गया था. इसके बाद इस होल में भरे बर्फीले पानी में कूद गए थे. 


एपिफेनी उत्सव क्या है? 

रिपोर्ट के अनुसार, एपिफेनी हफ्ते के दौरान पुजारी के आर्शीवाद वाले पानी को काफी पवित्र माना जाता है. इसके बारे में कहा जाता है कि इसके गुण काफी ज्यादा पवित्र होते हैं. 19 जनवरी को मनाया जाने वाला एपिफेनी प्रभु के बपतिस्मा का प्रतीक है.


 

Also Read