share--v1

पाकिस्तान में वोटिंग से पहले आत्मघाती हमला, दो धमाकों में 27 लोगों की मौत

बलूचिस्तान के पिशिन के उपायुक्त जुम्मा दाद खान के अनुसार, पिशिन में निर्दलीय उम्मीदवार असफंदयार काकर के चुनाव कार्यालय के बाहर हुए आत्मघाती विस्फोट में कम से कम 15 लोग मारे गए और 30 घायल हो गए.

auth-image
Om Pratap
फॉलो करें:

Pakistan Explosion outside independent candidate office: पाकिस्तान में आम चुनाव के लिए वोटिंग से एक दिन पहले बलूचिस्तान में दो आत्मघाती हमले हुए, जिसमें 27 लोगों की मौत हो गई. पहली घटना पिनिश इलाके की है, जहां 15 लोगों की मौत हुई, जबकि 30 लोग घायल हो गए. वहीं, दूसरा धमाका किला सैफुल्लाह में जेयूआई (एफ) के कार्यालय के बाहर हुआ जिसमें 12 लोगों की जान गई. 

चुनाव आयोग (ईसीपी) के मुताबिक, पिनिश में एक निर्दलीय उम्मीदवार के घर के बाहर धमाका हुआ. निर्दलीय उम्मीदवार की पहचान असफंदयार काकर के रूप में हुई है. काकर पीबी-47 सीट से प्रत्याशी थे और उनका चुनाव चिन्ह कटोरा था. 

कार्यवाहक आंतरिक मंत्री गौहर इजाज ने पिशिन में एक स्वतंत्र उम्मीदवार के चुनाव कार्यालय के बाहर हुए विस्फोट की कड़ी निंदा की है. एक्स पर एक पोस्ट के अनुसार, अंतरिम मंत्री ने मृतकों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की. वहीं, पाकिस्तान चुनाव आयोग ने पिनिश में हुए धमाके पर संज्ञान लिया और प्रांतीय मुख्य सचिव और प्रांतीय पुलिस प्रमुख से तत्काल रिपोर्ट मांगी.

जानकारी के मुताबिक, पिनिश में धमाके के कुछ घंटों बाद किला सैफुल्लाह में दूसरा धमाका हुआ. शहर के डिप्टी कमिश्नर यासिर बाजई के मुताबिक, जेयूआई-एफ के चुनाव कार्यालय के बाहर हुए विस्फोट में 12 लोग मारे गए.

चुनाव आयोग ने कार्रवाई का दिया निर्देश

चुनाव आयोग ने कहा कि धमाके की खबर मिली है, हमने घटना में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया है. रॉयटर्स के मुताबिक, पिशिन के डिप्टी कमिश्नर जुम्मा दाद खान ने कहा कि विस्फोट पिशिन जिले के नोकांडी इलाके के उम्मीदवार के कार्यालय में हुआ, वहीं, बलूचिस्तान के कार्यवाहक गृह एवं जनजातीय मामलों के मंत्री मीर जुबैर खान जमाली ने पिशिन में हुए विस्फोट पर संज्ञान लिया है.

एक बयान में उन्होंने घटना में हुई जानों पर अफसोस जताया और डिप्टी कमिश्नर से रिपोर्ट मांगी. उन्होंने कहा कि देश के दुश्मन अस्थिरता पैदा करना चाह रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह के हमले से चुनाव प्रक्रिया प्रभावित नहीं होगी.

जरदारी ने पिशिन में विस्फोट की निंदा की

पीपीपी नेता आसिफ अली जरदारी ने बलूचिस्तान के पिशिन जिले में हुए विस्फोट की निंदा करते हुए मानव जीवन के नुकसान पर अफसोस जताया है. उन्होंने मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना की. उन्होंने कहा कि विस्फोट के पीछे के अपराधियों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए और कानून के अनुसार दंडित किया जाना चाहिए.

बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री ने पिशिन विस्फोट पर रिपोर्ट मांगी

अंतरिम बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री अली मर्दन खान डोमकी ने पिशिन में हुए विस्फोट की निंदा की है और आंतरिक मंत्रालय से रिपोर्ट मांगी है. एक बयान में, उन्होंने जान गंवाने पर गहरा दुख और खेद व्यक्त किया और अधिकारियों को घटनाओं में शामिल लोगों को गिरफ्तार करने के लिए सभी उपलब्ध संसाधनों का उपयोग करने का निर्देश दिया. 

उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं शांतिपूर्ण चुनाव की प्रक्रिया को कमजोर करने की साजिश है... ऐसी घटनाओं में शामिल तत्वों को न्याय के कटघरे में लाया जाना चाहिए... लोगों को पूर्ण सुरक्षा प्रदान करने के लिए सभी संसाधनों का उपयोग किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि लोगों को डरना नहीं चाहिए और कल अपने मताधिकार का प्रयोग करने जरूर आना चाहिए, उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था में सुधार के प्रयास जारी हैं.

Also Read

First Published : 07 February 2024, 02:23 PM IST