share--v1

Pakistan Election 2024: एक तरफ नवाज दूसरी ओर इमरान, किसे मिलेगी पाकिस्तान की कमान? निर्दलीयों के पाले में गेंद

Pakistan Election 2024: पाकिस्तान में 8 फरवरी को हुए आम चुनाव के नतीजों की तस्वीर अभी तक साफ नहीं हो पा रही है. क्योंकि किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिल पाया है. हालांकि, पाकिस्तान मुस्लिम लीग के नवाज शरीफ ने सरकार बनाने का दावा कर दिया है. लेकिन गेंद तो इमरान समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों के पाले में है.

auth-image
India Daily Live
फॉलो करें:

Pakistan Election 2024: पाकिस्तान में हुए आम चुनाव की चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है. चुनावी नतीजों में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है. बहुमत के लिए 134 सीटें जीतना जरूरी है. गठबंधन सरकार बनना तय है. पाकिस्तान की आवाम ने पूर्व पीएम और पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रहे इमरान खान पर भरोसा जताया है. इमरान खान समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने चुनाव में परचम लहराया है. मीडिया रिपोर्ट्स की ताजा अपडेट के मुताबिक 265 सीटों पर हुए चुनाव में अब तक इमरान खान समर्थित 100 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों को जीत मिली है. पाकिस्तान मुस्लिम लीग को 71 सीटें, जबकि पीपीपी को 53 सीटें मिली हैं.  

नवाज शरीफ की पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें

इमरान खान की पार्टी पीटीआई समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने चुनाव में अच्छा प्रदर्शन किया है. नवाज शरीफ की मुस्लिम लीग सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. नवाज शरीफ ने तो सरकार बनाने का दावा भी कर दिया है. वहीं, इमरान खान ने एआई भाषण के जरिए अपने प्रशंसकों को जीत का जश्न मनाने को कहा है. नवाज शरीफ ने कहा कि वो अन्य दलों के साथ मिलकर गठबंधन की सरकार बनाएंगे. वहीं , बिलावल भुट्टो की पीपीपी  53 सीटों के साथ  रेस में बनी हुई है. 

निर्दलीयों के हाथ में गेंद

पाकिस्तान के 3 बार प्रधानमंत्री रहे 74 साल के नवाज शरीफ पीएम बनने की रेस में सबसे आगे हैं. लेकिन पीटीआई समर्थित उम्मीदवार लगभग 100 सीटों पर जीत दर्ज की है. अब सवाल ये है कि पाकिस्तान में किसकी सरकार बनेगी. अभी तक तस्वीर साफ नहीं हो पाई है. एक तरफ नवाज शरीफ ने सरकार बनाने का दावा कर दिया है तो दूसरी ओर जेल में बंद इमरान फील्ड से ही दूर है. उनके चुनाव लड़ने पर तो प्रतिबंध लगा हुआ है. लेकिन उनके समर्थित उम्मीदवार बड़ा खेल कर सकते हैं. हालांकि, पीटीआई समर्थित उम्मीदवार बड़ा खेल कर सकते हैं. इस समय गेंद निर्दलीयों के हाथ में हैं. वो जिसे चाहेंगे उसे प्रधानमंत्री बना सकते हैं.

 तस्वीर नहीं साफ, किसकी बनेगी सरकार

पाकिस्तान के राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि चुनाव में किसी पार्टा को बहुमत न मिलने से पाकिस्तान के हालात और बिगड़ सकते हैं. इस समय पूरी दुनिया की निगाहें पाकिस्तान के चुनावी नतीजों पर टिकी हुई हैं. अब ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि आखिर पाकिस्तान में नई सरकार कब बनेगी और किसकी बनेगी. वजीर-ए-आजम कौन कहलाएगा. कुछ घंटों या कुछ दिनों में तस्वीर साफ हो जाएगी. 

 

Also Read

First Published : 10 February 2024, 10:17 AM IST