share--v1

UAE ने कराया रूस-यूक्रेन जंग के बीच अहम समझौता, जानें प्रिजनर एक्सचेंज डील की इनसाइड स्टोरी 

Russia Ukraine Prisoner Swap Deal: रूस-और यूक्रेन के बीच जंग शुरू होने के बाद प्रिजनर एक्सचेंज हुआ है. इस समझौते के तहत दोनों देशों ने कैदियों की अदला-बदली की.

auth-image
Shubhank Agnihotri

हाइलाइट्स

  • पांच माह से जारी थी देशों के बीच बातचीत 
  • लेकिन जंग रुकने के आसार नहीं 

Russia And Ukraine Announce Largest Prisoner Swap Deal: लगभग दो साल से जारी रूस और यूक्रेन के बीच जंग शुरू होने के बाद बड़ा समझौता हुआ है. इस समझौते में खाड़ी के देश UAE ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. दरअसल रूस-और यूक्रेन के बीच जंग शुरू होने के बाद प्रिजनर एक्सचेंज हुआ है. इस समझौते के तहत दोनों देशों ने कैदियों की अदला-बदली की. समझौते के तहत रूस ने 230 यूक्रेनी नागरिकों को छोड़ा. वहीं, रूस ने यूक्रेन के 248 कैदियों को रिहा किया है. यह समझौता यूएई अधिकारियों की मध्यस्थता में संपन्न हुआ. 


पांच माह से जारी थी देशों के बीच बातचीत 

रिपोर्ट के मुताबिक, यह समझौता होने तक दोनों देशों और यूएई के बीच बीते पांच माह से बातचीत जारी थी. समझौता होने तक किसी भी पक्ष ने बात बाहर नहीं आने दी. रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि हमारे 248 सैनिक और नागरिक घर पहुंच गए हैं. इस डील को यूएई की मदद से संपन्न किया गया है. पश्चिम देशों की तमाम पाबंदियों के बाद भी रूस के यूएई के साथ बेहतरीन संबंध रहे हैं. 

 

दोनों देशों से अपने अच्छे संबंधों के चलते यूएई ने पिछले साल दोनों देशों के बीच जंग न रोकने की स्थिति में प्रिजनर एक्सजेंच पर भी बातचीत की जा सकती है. दोनों देशों ने संयुक्त अरब अमीरात के इस प्रस्ताव को मान लिया था.

लेकिन जंग रुकने के आसार नहीं 

रूस ने बुधवार को दिए गए अपने बयान में कहा कि सेना ने यूक्रेन की ओर से दागी गई कई मिसाइलों को इंटरसेप्ट किया है. यूक्रेन पर हाल ही रूस की ओर से तेज हमले किये गए हैं. बयान में कहा कि रूसी डिफेंस सिस्टम शानदार तरीके से काम कर रहा है. यूक्रेन को वेस्टर्न कंट्रीज से क्ल्स्टर बम मिले हैं. इनका इस्तेमाल रूस के खिलाफ हो रहा है. यदि यह नहीं रुका तो इसका परिणाम बेहद भयावह होगा.

 

 

Also Read

First Published : 04 January 2024, 11:51 PM IST