menu-icon
India Daily
share--v1

जयशंकर ने चीन को सुनाई खरी-खोटी, बताई दुनिया में भारत की अहमियत

Jaishankar On China: विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बदल रहे वैश्विक परिदृश्य में भारत की अहमियत पर खासा जोर दिया है. उन्होंने कहा कि भारत के प्रति दुनिया का आज नजरिया बदल रहा है. विदेश मंत्री ने कहा कि आज प्रमुख वैश्विक मुद्दों के लिए भारत की सहमति बड़ी जरूरी है.

auth-image
Shubhank Agnihotri
s jaishankar

हाइलाइट्स

  • दुनिया का बदला भारत के प्रति नजरिया
  • सीमा समाधान तक सेनाएं रहेंगी आमने-सामने

Jaishankar On China: विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बदल रहे वैश्विक परिदृश्य में भारत की अहमियत पर खासा जोर दिया है. उन्होंने कहा कि भारत के प्रति दुनिया का आज नजरिया बदल रहा है. विदेश मंत्री ने कहा कि आज प्रमुख वैश्विक मुद्दों के लिए भारत की सहमति बड़ी जरूरी है. नागपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज दुनिया का कोई भी मुद्दा भारत की राय और सहमति के बिना तय नहीं होता है. आज दुनिया का भारत के प्रति नजरिया बदल गया है. 


विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि हमें यह समझने की जरूरत है कि अलग-अलग लोगों के साथ संबंधों को रखकर अपने हितों को कैसे साधा जाए. चीनी मसले पर उन्होंने कहा कि भारत और चीन के बीच राजनयिक संबंधों के बारे में कहा कि दोनों देशों के बीच सीमा मुद्दे का समाधान नहीं हो सकता जब तक दोनों ओर से इसकी कोशिश न की जाए.

जयशंकर ने कहा कि मैंने चीन के विदेश मंत्री से कहा है कि जब तक आप सीमा समाधान नहीं ढूंढ़ लेते हैं तब तक सेनाएं आमने-सामने रहेंगी. इसके अलावा संबंधों के सामान्य होने के बारे में भी नहीं सोचा जा सकता. उन्होंने कहा कि दोनों देशों की ओर से संबंधों को सामान्य बनाने पर जोर दिया जा रहा है. राजनयिक गतिरोधों को कम करने में समय लगता है. 


विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि वह पहले भी इस बात को दोहरा चुके हैं. बीते साल केंद्र में मोदी सरकार के कार्यकाल के नौ साल पूरा होने पर जयशंकर ने कहा कि चीन के साथ शांति तभी संभव है जब सीमावर्ती क्षेत्रों में अमन और शांति स्थापित हो.