menu-icon
India Daily
share--v1

अब हिंसा के बीच होंगे बांग्लादेश में चुनाव! जानें कैसी है पड़ोसी मुल्क की तैयारी

Bangladesh General Election 2024:  बांग्लादेश में रविवार को आम चुनाव होने हैं.चुनावों से पहले मुल्क हिंसक गतिविधियों से जूझ रहा है. चुनाव के ठीक एक दिन पहले देश के कई हिस्सों में हिंसा की खबरें आई हैं.

auth-image
Shubhank Agnihotri
Bangladesh

हाइलाइट्स

  • सुबह 8 बजे शुरू होगा मतदान 
  • मतदान केंद्रों की कड़ी सुरक्षा निगरानी 

Bangladesh General Election 2024:  बांग्लादेश में रविवार को आम चुनाव होने हैं.चुनावों से पहले मुल्क हिंसक गतिविधियों से जूझ रहा है. चुनाव के ठीक एक दिन पहले देश के कई हिस्सों में हिंसा की खबरें आई हैं. ऐसे में यहां होने वाले चुनावों पर देश के अलावा दुनिया के अन्य देशों की भी निगाहें हैं. सत्तारूढ़ दल शेख हसीना की पार्टी अवामी लीग पांचवीं बार सत्ता को हासिल करने के प्रयास में लगी है.

सुबह 8 बजे शुरू होगा मतदान 

रिपोर्ट के मुताबिक, 170 मिलियन आबादी वाले देश में 7 जनवरी को वोट डाले जाएंगे. वोटिंग प्रक्रिया सुबह 8 बजे आरंभ होगी और शाम 4 बजे तक जारी रहेगी. वोटिंग खत्म  होने के बाद काउंटिंग शुरू हो जाएगी. सोमवार तक शुरुआती नतीजे आने की उम्मीद जताई जा रही है. 

विपक्ष की मांग पर ध्यान नहीं

बांग्लादेश की मुख्य विपक्षी पार्टी BNP शेख हसीना के इस्तीफे की मांग कर रही है. बीएनपी का कहना है कि वह आम चुनावों के लिए कार्यवाहक सरकार की मांग कर रही थी जिसे नहीं माना गया. 


आगजनी और हिंसक गतिविधियां

चुनाव से एक दिन पहले ही देश में हिंसा की आग भड़क गई. ढाका के गोपीबाग इलाके में एक ट्रेन में आग लगा दी गई जिसमें 5 लोगों की जलकर दर्दनाक मौत हो गई. इसके ठीक बाद चार मतदान केंद्रों सहित पांच प्राइमरी स्कूलों को भी आग के हवाले कर दिया. 

पहली बार इतने करोड़ मतदाता

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पहली बार मतदान करने वालों की संख्या लगभग 1.5 करोड़ है. 300 संसद सीटों के लिए लगभग 2000 प्रत्याशी मैदान में हैं. इस चुनाव में 436 स्वतंत्र उम्मीदवार हैं. यह संख्या 2001 के बाद से सबसे ज्यादा है.


मतदान केंद्रों की कड़ी सुरक्षा निगरानी 

चुनाव में सुरक्षा की स्थिति को ध्यान में रखते हुए 800,000 पुलिस, पैरामिलिट्री के जवान और पुलिस सहायकों को मतदान केंद्रों पर तैनात किया गया है. आपको बता दें कि 76 साल की शेख हसीना 2009 से बांग्लादेश की सत्ता में हैं.