menu-icon
India Daily
share--v1

भारत से संबंध सुधारेंगे जिनपिंग! डेढ़ साल बाद अपने राजदूत की नियुक्ति कर सकता है चीन

India China Relation: चीन बहुत जल्द भारत के लिए अगले राजदूत की नियुक्ति कर सकता है. भारत चीन सीमा विवाद के कारण दोनों देशों में तनातनी का लंबे समय से माहौल बना हुआ है. चीन के पिछले राजदूत सन वेइदोंग अक्टूबर 2022 में वापस चले गए थे.

auth-image
Shubhank Agnihotri
jinping

हाइलाइट्स

  • गलवान घटना के बाद बिगड़े संबंध
  • सीमा पर भारी संख्या में तैनात हैं सैनिक 

India China Relation: भारत और चीन के लंबे समय से संबंधों में तनातनी चल रही है. इस बीच खबर सामने आई है कि चीन बहुत जल्द भारत के लिए अगले राजदूत की नियुक्ति कर सकता है. बता दें कि पिछले 15 माह से भारत में चीन का कोई राजदूत नहीं है. रिपोर्ट के मुताबिक, चीन जू फीहोंग को अपना भारत में राजदूत बना सकता है. इससे पहले वह अफगानिस्तान में पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के एंबेसडर के तौर पर काम कर चुके हैं. वह रोमानिया में भी चीनी राजदूत के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं. 


जू फीहोंग फिलहाल इस समय चीन के विदेश मामलों के सहायक मंत्री के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं. नए दूत की नियुक्ति कब तक होगी इस बात की अब तक स्पष्ट जानकारी सामने नहीं आ सकी है. 

गलवान घटना के बाद बिगड़े संबंध

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारत चीन सीमा विवाद के कारण दोनों देशों में तनातनी का लंबे समय से माहौल बना हुआ है. चीन के पिछले राजदूत सन वेइदोंग अक्टूबर 2022 में वापस चले गए थे. नए राजदूत को इसके बाद से नियुक्ति नहीं मिली है. खबर के अनुसार, 2020 में गलवान घाटी की घटना के बाद दोनों देशों के संबंध बेहद तनावपूर्ण हो गए थे. 

सीमा पर भारी संख्या में तैनात हैं सैनिक 

भारत ने सीमा पर शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए कई बार द्विपक्षीय समझौतों पर ध्यान देने के लिए चीन पर जोर दिया. दोनों पक्षों ने सीमा पर सैनिकों की भारी संख्या तैनात की है. इस कारण भी सीमा पर तनाव का माहौल बना हुआ है.