share--v1

Pakistan Election Result 2024: क्या सेना के चंगुल से निकल पाएगा पाकिस्तान? आखिर जीतकर कैसे हार गए इमरान खान

Pakistan Election Result 2024: पाकिस्तान चुनाव के बाद अब सरकार बनाने की जद्दोजहद चालू है. मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N), पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) जोड़-तोड़ में जुट गई है.

auth-image
Gyanendra Sharma
फॉलो करें:

Pakistan Election Result 2024: पाकिस्तान चुनाव के नतीजे आ चुके हैं, लेकिन बहुमत किसी पार्टी को नहीं मिली है. 72 घंटे बाद भी आधिकारिक रूप से सभी चुनाव परिणाम घोषित नहीं किए गए हैं. जितने भी परिणाम आए हैं उसमें इमरान खान के समर्थक निर्दलीय उम्मीदवार 93 सीटों के साथ सबसे आगे हैं. नवाज की पार्टी 75 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर है. बिलावल की पीपीपी ने 54 सीटें हासिल की हैं. 

पाला बदल रहे इमरान खान के उम्मीदवार

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक इमरान खान के जीते हुए उम्मीदवार पाला बदल रहे हैं. कई जीते हुए उम्मीदवार नावज शरीफ की बेटी मरियम नवाज से मिल चुके हैं. नवाज की पार्टी इमरान खान समर्थित उम्मीदवारों को तोड़ रही है. इससे ये साफ हो गया है कि सेना किसी भी तरह से देश में नवाज शरीफ की सरकार बनाने की कोशिश में जुटी हुई है. 

पीएमएलएन और पीपीपी के बीच बातचीत जारी

पाकिस्तान में नई सरकार बनाने के लिए पीएमएलएन और पीपीपी के नेताओं बीच बातचीत जारी है. नवाज शऱीफ ने इमरान खान की पीटीआई को छोड़कर सभी पार्टियों से साथ आने की अपील की है. पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, एक बड़े घटनाक्रम में पीपीपी पीएमएल-एन के साथ गठबंधन सरकार बनाने पर सहमत हो गई है. शर्त है कि बिलावल भुट्टो को प्रधानमंत्री बनाया जाएगा. शहबाज शरीफ ने पार्टी नेताओं को बताया कि जरदारी ने पेशकश की है कि बदले में पीपीपी पंजाब प्रांत में सरकार बनाने के लिए पीएमएल-एन का समर्थन करेगी. 

इस बीच PML-N के प्रेसिडेंट शाहबाज शरीफ आसिफ अली जरदारी और बिलावल भुट्टो से मिलने लाहौर के बिलावल हाउस पहुंचे हैं. इस बैठक में नई सरकार बनाने पर बातचीत होगी. शाहबाज के साथ PML-N का डेलिगेशन है. इसमें आजम नजीर तराड़, अयाज सादिक, अहसन इकबाल, राना तनवीर, ख्वाजा साद रफीक, मलिक अहमद खान, मरियम औरंगजेब और शाजिया फातिमा शामिल हैं. 

कैस बन सकती है पाकिस्तान में सरकार?

पाकिस्तान में अगली सरकार किसकी बनेगी ये आने वाले दिनों में ही साफ हो पाएगा. हालांकि मौजूदा हालात में दो विकल्प दिख रहे हैं. पहला ये कि पीएमएल-एन, पीपीपी और एमक्यूएमएम का गठबंधन हो. दूसरा विकल्प पीटीआई समर्थित और पीपीपी मिलकर सरकार बनाए. सूत्रों ने दावा किया कि यदि पीएमएल-एन और पीपीपी के साथ बातचीत विफल रही, तो पीएमएल-एन उस स्थिति में एमक्यूएम, जेयूआई-एफ और अन्य छोटे दलों के साथ गठबंधन सरकार बना सकती है. 

Also Read

First Published : 11 February 2024, 11:05 PM IST