share--v1

स्कूल बंद, इंटरनेट बंद, हल्द्वानी हिंसा के बाद राज्य में हाई अलर्ट, जानें अब कैसे हैं हालात

Haldwani: उत्तराखंड के हल्द्वानी में अवैध निर्माण पर बने स्थल को ढहाने के बाद हालात काफी हिंसक और बेकाबू हो गए हैं. जिसके चलते 20 पुलिसकर्मियों को चोटें भी आई हैं और प्रशासन द्वारा दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश भी दिए गए हैं.

auth-image
Antriksh Singh
फॉलो करें:

हल्द्वानी हिंसा के बाद पूरे राज्य को हाई अलर्ट पर रखा गया है. अब तक 4 लोगो की मौत हो चुकी है, जबकि 200 से ज्यादा लोग पथराव में घायल हुए हैं. हालात को देखते हुए इंटरनेट को बंद कर दिया गया है. वहीं, भारी संख्या में पुलिस बल को भी तैनात किया गया है. फिलहाल पुलिस आरोपियों को चिन्हित करने में जुटी हुई है.

नैनीताल जिला प्रशासन के अनुसार, हलद्वानी के बनभूलपुरा में हिंसा के बाद इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गईं. घटना में अब तक 4 लोगों की मौत हो गई है और 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं. प्रशासन ने सभी स्कूल-कॉलेजों को भी बंद करने का आदेश दिया है.वहीं, हालात पर काबू पाने के लिए  बनभूलपुरा में हिंसा के बाद पूरे राज्य में हाई अलर्ट जारी किया गया है.

दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश

हल्द्वानी में जमीन पर बिना इजाजत के बनाए गए मदरसे और नमाज की जगह को तोड़ दिया गया. इससे नाराज होकर कुछ लोगों ने पुलिस और पत्रकारों पर पत्थर फेंके. कुछ गाड़ियों को भी जला दिया. इस मामले में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बैठक बुलाई है. जिला प्रशासन ने भी ये कहा है कि जो लोग हंगामा कर रहे हैं, उन पर गोली चलाने की इजाजत है. 

डीएम ने वनभूलपुरा में कर्फ्यू लगा दिया है

हालात बहुत खराब हो गए हैं. कुछ लोगों ने बनभूलपुरा थाने पर भी पत्थर फेंके. कुछ सरकारी और निजी गाड़ियों को तोड़ दिया गया है. बनभूलपुरा इलाके में बंदूकों की आवाज भी सुनी गई है. नैनीताल जिला प्रशासन ने दंगा प्रभावित इलाके में कर्फ्यू लगा दिया है. 

अभी तक 20 से ज्यादा पुलिस वाले जख्मी हुए हैं. कुछ पत्रकार और नगर निगम वाले भी जख्मी हुए हैं. अभी पुलिस हालात को नियंत्रित करने की कोशिश कर रही है.

स्कूल बंद रहेंगे 

मुख्य शिक्षा अधिकारी नैनीताल ने कहा है कि हल्द्वानी के सभी तरह के स्कूल कक्षा 1 से 12 तक आज यानि 9 फरवरी 2024 को बंद रहेंगे. इसमें राजकीय, सहायता प्राप्त, मान्यता प्राप्त, सीबीएसई, आंगनवाड़ी केंद्र भी शामिल हैं. सभी स्कूल इस बात का ध्यान रखेंगे.

Also Read

First Published : 09 February 2024, 05:06 AM IST