menu-icon
India Daily
share--v1

G20 Summit: नई दिल्ली घोषणा पत्र को शशि थरूर ने भारत की कूटनीतिक जीत बताया, विदेश मंत्री और अमिताभ कांत के लिए कह दी ये बड़ी बात

G20 Summit: भारत मंडपम में आयोजित दो दिवसीय जी20 शिखर सम्मेलन पर कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. समिट में जारी किए गए दिल्ली घोषणापत्र को उन्होंने कूटनीतिक जीत बताया है.

auth-image
Purushottam Kumar
G20 Summit: नई दिल्ली घोषणा पत्र को शशि थरूर ने भारत की कूटनीतिक जीत बताया, विदेश मंत्री और अमिताभ कांत के लिए कह दी ये बड़ी बात

नई दिल्ली: भारत मंडपम में आयोजित दो दिवसीय जी20 शिखर सम्मेलन पर कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. समिट में जारी किए गए दिल्ली घोषणापत्र को उन्होंने कूटनीतिक जीत बताया है. इस शिखर सम्मेलन की सफलता के लिए उन्होंने भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर और भारत के जी20 शेरपा की जमकर सराहना की है. शशि शरूर ने इशारों-इशारों में विपक्ष के नेताओं पर भी सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि जहां श्रेय देना है वहां श्रेय देना चाहिए.

शशि थरूर ने एक्स पर लिखा
जी-20 शिखर सम्मेलन के सफल आयोजन को लेकर शशि थरूर ने एक्स पर लिखा कि मैं जी-20 शेरपा अमिताभ कांत और हमारे विदेश मंत्री दोनों के संपर्क में हूं और मैं उन्हें बधाई दूंगा क्योंकि उन्होंने जो किया है वह निश्चित रूप से बहुत, बहुत अच्छा है. भारत के लिए अच्छा है. इस तरह से कूटनीतिक बातचीत को आगे बढ़ाना आसान नहीं है. 

ये भी पढ़ें: J&K: बारामूला पुलिस आतंकी भर्ती मॉड्यूल का किया भंडाफोड़, लश्कर के 3 मददगार गिरफ्तार

शशि थरूर ने आगे कहा कि ऐसा लगता है कि उन दोनों ने बहुत कठिन प्रयास किया है, और मुझे लगता है कि जहां श्रेय देना है वहां श्रेय देना चाहिए... लेकिन जहां तक उपलब्धि का सवाल है वास्तव में सर्कल को बराबर करना, जो यूक्रेन के संबंध में लगभग एक असंभव कार्य है, यह वास्तव में बहुत प्रभावशाली है... इसलिए इसे पूरा करना वास्तव में एक बेहद प्रभावी उपलब्धि थी...

गौरतलब है कि इस शिखर सम्मेलन में भारत को एक बड़ी कूटनीतिक जीत मिली है. रूस-यूक्रेन युद्ध के मामले पर मतभेदों के बाद भी जी20 समिट में सर्वसम्मति से घोषणापत्र जारी किया है. रविवार को इस मामले पर अमिताभ कांत ने कहा था कि लीडर्स समिट में रूस-यूक्रेन पर आम सहमति बनाना था. यह 200 घंटे की नॉन-स्टॉप वार्ता, 300 द्विपक्षीय बैठकों और 15 मसौदों पर किया गया था. उन्होंने आगे कहा कि नायडू और गंभीर के प्रयासों से उन्हें काफी मदद मिली.

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र के ठाणे में लिफ्ट गिरने से बड़ा हादसे, 7 लोगों की हुई मौत, कई लोग घायल