share--v1

थाईलैंड, श्रीलंका और अब मलेशिया... आखिर भारत को क्यों दी जा रही है वीजा-फ्री यात्रा की सुविधा?

पीएम अनवर इब्राहिम ने कहा कि 1 दिसंबर से अरब देशों, तुर्की, जॉर्डन, चीन और भारत के नागरिकों को मलेशिया आने के लिए 30 दिनों की वीजा छूट की सुविधा देंगे.

auth-image
Gyanendra Sharma
फॉलो करें:

Malaysia Visa Free Travel: आगर आप क्रिसमस और नए साल पर विदेशी यात्रा का प्लान कर रहे हैं तो मलेशिया आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है, क्योंकि मलेशिया के पीएम अनवर इब्राहिम ने हाल ही में घोषणा की है कि वह भारत के नागरिकों के लिए एंट्री वीजा की जरूरतों को खत्म कर रहा है. 1 दिसंबर से भारत के लोग 30 दिनों तक वीजा फ्री यात्रा कर सकते हैं. हालांकि मलेशिया के पीएम ने कहा कि वीजा छूट अभी भी अपराध या हिंसा के रिकॉर्ड की जांच के अधीन है.

मलेशिया के पीएम ने क्या की घोषणा

मलय मेल की एक रिपोर्ट के अनुसार पीएम अनवर इब्राहिम ने कहा कि 1 दिसंबर से अरब देशों, तुर्की, जॉर्डन, चीन और भारत के नागरिकों को मलेशिया आने के लिए 30 दिनों की वीजा छूट की सुविधा देंगे. हालांकि उन्होंने कहा कि मध्य पूर्वी देश तुर्की और जॉर्डन पहले से ही 30-दिवसीय वीजा फ्री की सेवा का लाभ ले रहे हैं. अब उन्होंने इसे भारत और चीन के लोगों के लिए भी बढ़ा दिया है. मलय मेल की रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा कि आसियान क्षेत्र में पर्यटन ज्यादातर पड़ोसी देशों जैसे सिंगापुर और इंडोनेशिया से होता है.

थाईलैंड और श्रीलंका ने भी दिया ऑफर

मलेशिया से पहले थाईलैंड और श्रीलंका जैसे कई अन्य देशों ने भी भारतीयों के लिए वीजा-फ्री यात्रा की पेशकश की है. इसका उद्देश्य पर्यटन को बढ़ावा देना और बदले में अर्थव्यवस्था को ऊपर ले जाना है. लेकिन ऐसा क्यों है कि मलेशिया जैसे कुछ देश विशेष रूप से भारतीयों को वीजा फ्री यात्रा दे रहे हैं. ऐसे कदम का क्या फायदा?

आखिर क्या है मकसद?

मलेशिया के अलावा, थाईलैंड जैसे अन्य देशों ने घोषणा की है कि भारतीय नागरिक 10 नवंबर से बिना वीजा के एशियाई देश में प्रवेश कर सकते हैं. थाईलैंड भारतीय पर्यटकों को केवल पर्यटन उद्देश्यों के लिए 30 दिनों के लिए देश में रहने की अनुमति दे रहा है. इससे पहले श्रीलंका ने भी भारत के पर्यटकों के लिए वीजा फ्री एंट्री की घोषणा की थी. यह 31 मार्च 2024 तक कर्ज में फंसे द्वीप राष्ट्र के पर्यटन के पुनर्निर्माण के लिए एक पायलट प्रोजेक्ट का हिस्सा था.

यह भी पढ़ेंः आपका भी पूरा हो सकता है अपने घर का सपना, सरकार की इस योजना का ऐसे उठाएं फायदा

क्या भारत बड़ा बाजार है?

अन्य रिपोर्ट्स में कहा गया है कि वियतनाम पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भारतीयों को अल्पकालिक वीजा छूट देने पर भी विचार कर रहा है. वियतनामी समाचार एजेंसी वीएनएक्सप्रेस के अनुसार वियतनाम के संस्कृति, खेल और पर्यटन मंत्री गुयेन वान हंग ने पर्यटन वसूली बढ़ाने के लिए चीन और भारत जैसे प्रमुख बाजारों वाले देशों के लिए छूट देने का आह्वान किया है.

देश की इकोनॉमी के लिए कर रहे काम?

ऐसे कई कारण हैं जिनकी वजह से मलेशिया, थाईलैंड, श्रीलंका और अन्य देश भारतीयों को वीजा फ्री यात्रा की सुविधा देने पर विचार कर रहे हैं या अनुमति दे रहे हैं. वीजा जरूरतों में छूट के साथ मलेशिया सबसे ज्यादा भारतीय पर्यटकों को खींचने की योजना बना रहा है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार चीन और भारत क्रमशः मलेशिया के चौथे और पांचवें सबसे बड़े बाजार हैं. मलेशिया को भी उम्मीद है कि ज्यादा भारतीयों के देश में आने से आमदनी बढ़ेगी और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा.

देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंः-

First Published : 29 November 2023, 01:08 AM IST