share--v1

Lok Sabha Elections 2024: न घर, न गोल्ड... फिर भी केरल के पूर्व मंत्री की 'संपत्ति' के बारे में जानकर हो जाएंगे हैरान

Lok Sabha Elections 2024: केरल के पूर्व मंत्री थॉमस इसाक ने चुनावी हलफनामे में अपनी संपत्ति का ब्यौरा दिया है. ब्यौरे के मुताबिक, थॉमस इसाक के पास न तो खुद का घर है, न ही जमीन. उनके पास गोल्ड भी नहीं है, लेकिन उन्होंने जो ब्यौरा दिया है, वो काफी चौंकाने वाला है.

auth-image
India Daily Live

Lok Sabha Elections 2024: केरल के पूर्व वित्त मंत्री थॉमस इसाक को एलडीएफ (लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट) ने पथानामथिट्टा से अपना उम्मीदवार बनाया है. थॉमस ने अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है, जिसमें उन्होंने अपनी संपत्ति का ब्यौरा दिया है. ब्यौरे के मुताबिक, थॉमस के पास न तो अपना घर है और न ही जमीन. लेकिन जिस बेशकीमती चीज का ब्यौरा थॉमस ने दिया है, वो चौंकाने वाला है.

केरल के पूर्व वित्त मंत्री डॉक्टर थॉमस इसाक 9.6 लाख रुपये मूल्य की 20,000 किताबों के कलेक्शन की जानकारी हलफनामे में दी है. थॉमस इसाक, रंग-बिरंगे डिजाइनर कुर्ते के शौकीन हैं. उनकी बेटी अमेरिका में रहती हैं. थॉमस दो बार पूर्व वित्त मंत्री और चार बार विधायक रहे हैं.

थॉमस इसाक, ट्रेंड इकोनॉमिस्ट हैं और सीपीएम की केंद्रीय समिति के सदस्य हैं. उन्होंने बताया है कि 20 हजार से अधिक किताबों का कलेक्शन उनके पास है, जिनकी कीमत 9 लाख 60 हजार के करीब है. ये किताबें उनके तिरुवनंतपुरम वाले घर में रखी हुई हैं, जो उनके छोटे भाई का है.

अलग-अलग अकाउंट में कितने रुपये हैं जमा?

हलफनामे में थॉमस इसाक ने बताया है कि उनके पास तिरुवनंतपुरम में ट्रेजरी बचत बैंक में 6,000 रुपये, पेंशनभोगियों के ट्रेजरी खाते में 68,000 रुपये, एसबीआई बचत खाते में 39,000 रुपये, केएसएफई सुगम खाते में 36,000 रुपये और केएसएफई में सावधि जमा के रूप में 1.31 लाख रुपये जमा हैं.

इसाक ने KSFE में चिट फंड में 77,000 रुपये जमा किए हैं. इसके अलावा, उनके पास 10,000 रुपये नकद और मलयालम कम्युनिकेशंस में 10,000 रुपये के शेयर हैं. इसाक ने शनिवार सुबह करीब 11 बजे पथानामथिट्टा जिला कलेक्टर प्रेम कृष्णन (रिटर्निंग ऑफिसर) के समक्ष अपना नामांकन पत्र जमा किया. उनके साथ मंत्री वीणा जॉर्ज, विधायक चित्तयम गोपकुमार, मैथ्यू टी थॉमस और प्रमोद नारायणन भी थे.

कौन हैं थॉमस इसाक?

डॉक्टर इसाक ने मलयालम और अंग्रेजी में 50 से अधिक किताबें लिखी हैं. केरल विधानसभा में वे अलाप्पुझा विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते थे. केरल राज्य योजना बोर्ड के सदस्य के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान वे केरल में पीपुल्स प्लानिंग के प्रभारी थे. वे 2006 से 2011 और 2016 से 2021 तक केरल के वित्त मंत्री भी रहे.

टीपी मैथ्यू और सरम्मा मैथ्यू के बेटे, इसाक ने सेंटर फॉर डेवलपमेंट स्टडीज से पीएचडी की है. थॉमस इसाक ने छात्र राजनीति से करियर की शुरुआत की थी. उन्होंने भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) की स्टूडेंट विंग स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) ज्वाइन किया था. 

इसाक सेंटर फॉर डेवलपमेंट स्टडीज, तिरुवनंतपुरम में प्रोफेसर भी रह चुके हैं. इसाक का अपनी पत्नी डॉ. नाटा डुवुरी से तलाक हो चुका है. डॉक्टर नाटा डुवुरी फिलहाल नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ आयरलैंड, गॉलवे, आयरलैंड में सीनियर लेक्चरर हैं. उनकी दो बेटियां सारा डुविसैक और डोरा डुविसैक हैं.

Also Read