menu-icon
India Daily
share--v1

लालू परिवार की मुश्किलें और बढ़ी, लैंड फॉर जॉब मामले में कोर्ट ने भेजा समन

एक तरफ नीतीश कुमार का एक बार फिर से लालू से मोह भंग की खबर है तो दूसरी ओर लैंड फॉर जॉब घोटाले के मामले में कोर्ट ने समन भेज दिया है.

auth-image
Gyanendra Sharma
rabri devi

Land for Job case: लालू यादव के परिवार के लिए यह सप्ताह ठीक नहीं रहा. एक तरफ नीतीश कुमार का एक बार फिर से लालू से मोह भंग की खबर है तो दूसरी ओर लैंड फॉर जॉब घोटाले के मामले में कोर्ट ने समन भेज दिया है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की चार्जशीट पर दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए आरोपी राबडी देवी, मीसा भारती ,हेमा यादव, हृदयानंद चौधरी और अन्य को समन जारी किया है. राबड़ी देवी समेत बाकियों को कोर्ट की ओर से यह समन ऐसे समय में जारी किया गया है बज बिहार में सियासी घमासान मचा हुआ है.

ED ने दाखिल की 4751 पेज की चार्जशीट

राऊज एवेन्यू कोर्ट ने सभी आरोपियों को 9 फरवरी को पेश होने का आदेश दिया है. ED ने इस मामले में 4751 पेज की चार्जशीट दाखिल की है. इस मामले में ईडी की ये पहली चार्जसीट है. ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में कुल सात लोगों को आरोपी बनाया है. आरोपियों में राबडी देवी, मीसा भारती, हेमा यादव, हृदयानंद चौधरी, अमित कात्याल और दो कंपनी एके इन्फोसिस्टम और एबी एक्सपोर्ट के नाम हैं. 

क्या है मामला?

ये मामला उस समय का है जब लालू यादव रेव मंत्री थे. यह मामला 14 साल पुराना है. इस मामले में आरोप है कि तत्कालीन रेल मंत्री रहते हुए लालू प्रसाद यादव ने रेलवे में नौकरी के बदले जमीन ली थी. देश में यूपीए की सरकार थी तब लालू प्रसाद यादव 2004 से 2009 तक रेल मंत्री थे.