share--v1

जानें कौन हैं आशुतोष महाराज, जिनके लिए शिष्या ने ली समाधि?

दिव्य ज्योति जागृत संस्थान के संस्थापक आशुतोष महाराज बीते 10 वर्षों से समाधि में हैं. अब उनकी शिष्या ने भी समाधि ले ली है. वही उनके शिष्य महामंडलेश्वर और बाबा महादेव ने गंभीर आरोप लगाया हैं.

auth-image
Avinash Kumar Singh
फॉलो करें:

नई दिल्ली: दिव्य ज्योति जागृत संस्थान के संस्थापक आशुतोष महाराज को लेकर बड़ा दावा सामने आया है. दावा किया जा रहा है कि आशुतोष महाराज 10 साल से समाधि में हैं. बीते दिनों 28 जनवरी 2024 को उनकी शिष्या साध्वी गुरु मां आशुतोषाम्वरी ने समाधि लिया था. अब उनके शिष्य महामंडलेश्वर और बाबा महादेव ने बड़ा गंभीर आरोप लगाया है. 

शिष्यों का आरोप हैं कि दिव्य ज्योति जागृत संस्थान के लोगों ने आशुतोष महाराज के शरीर को डीप फ्रीजर में कैद करके रखा है, जिससे वे समाधि से कभी वापस ही न आ सकें. आशुतोष महाराज ने अपनी शिष्या आशुतोषांबरी को आंतरिक संदेश भेजते हुए कहा कि वह उन्हें समाधि से वापस ले आएं. मैं वापस नहीं आ पा रहा हूं. इन लोगों ने डीप फ्रीजर में उन्हें कैद करके रखा हुआ है.

महादेव बाबा का बड़ा बयान 

महादेव बाबा ने कहा कि किसी को आज तक डीप फ्रीजर में समाधि की स्थिति में रखा गया है. दिव्य ज्योति जागृत संस्थान में रहने वाले डॉ. स्वामी हरिदास आनंद ने कहा कि वे एक साल पहले आशुतोष महाराज की शिष्या आशुतोषांबरी के दर्शन के लिए लखनऊ आए थे. दर्शन के बाद इंग्लैंड चले गए, फिर यहां आकर आशुतोषांबरी की सेवा और आश्रम कार्य में जुट गए.

आशुतोषांबरी ने 28 जनवरी को ली थी समाधि 

आशुतोषाम्वरी के शिष्यों ने कहा कि उनकी गुरु मां आशुतोषांबरी ने 28 जनवरी को सभी के सामने समाधि ली थी, ताकि वे गुरु आशुतोष महाराज को समाधि से जगाकर वापस भौतिक शरीर में लाकर उनकी चेतना को जगा सकें. गुरु मां आशुतोषांबरी को ध्यान अवस्था में आशुतोष महाराज का संदेश मिला था, जिसमें उन्होंने कहा कि उनकी शिष्या आशुतोषांबरी उन्हें समाधि में आकर जगाएं ताकि वे भौतिक शरीर में वापस आ सकें. जल्द ही आशुतोषाम्वरी समाधि से वापस आएंगी, ताकि वे आशुतोष महाराज को वापस ला सकें.

Also Read

First Published : 07 February 2024, 10:32 AM IST