share--v1

'महिलाएं नरम नहीं बनीं तो शादियां टूटती है', फारूक अब्दुल्ला ने बजट के बाद ऐसा क्यों कहा?

नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख फारूक अब्दुल्ला अंतरिम बजट पर निशाना साधते हुए निराशाजनक बताया है. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि इस बजट में कोई नई बात नहीं थी.

auth-image
Gyanendra Sharma
फॉलो करें:

नई दिल्ली: नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख फारूक अब्दुल्ला अंतरिम बजट पर निशाना साधते हुए निराशाजनक बताया है. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि इस बजट में कोई नई बात नहीं थी. इस दौरान उन्होंने महिलाओं को लेकर एक विवादित बयान भी दे दिया. महिलाओं के ‘लखपति दीदी’ बनने को लेकर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि महिलाएं लखपति बनेंगी अच्छी बात है. मगर नरम बने नहीं तो शादियां बहुत टूटती है. आज कल शादियां बहुत टूट रही हैं.

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि असली बजट तो जुलाई में आएगा. हमें उम्मीद है कि लोगों को फायदा होगा, पर्यटन बढ़ेगा, उद्योग भी बढ़ेंगे और देश प्रगति करेगा. उन्होंने कहा कि टूरिज्म की मीटिंग कश्मीर में हुई थी. हम उम्मीद करते है की बाहर से और लोग आएंगे.

3 करोड़ महिलाएं बनेंगी ‘लखपति दीदी’

अंतरिम बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को कहा कि सरकार ने लाखों महिलाओं को लखपति बनाया है. इसके साथ ही 2025 तक करोड़ों महिलाएं लखपति बनेंगी. निर्मला सीतारमण ने कहा कि 3 करोड़ महिलाएं ‘लखपति दीदी’ बनेंगी. उन्होंने कहा कि लखपति दीदी योजना को बढ़ावा दिया जाएगा. 2 करोड़ से बढ़ाकर 3 करोड़ लखपति दीदी बनाने का निर्णय लिया गया है

महिलाओं के लिए कई योजनाएं

बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने देश भर में महिलाओं के लिए चलाई जा रहीं विभिन्न सरकारी योजनाओं का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि केंद्र  और राज्य सरकारों की ओर से महिलाओं के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं. उन्होंने कहा कि ग्रामीण महिलाओं को 81 लाख स्व सहायता समूह से जोड़ा गया है, हम इसे अगल लेवल पर लेकर जाएंगे. उन्होंने कहा कि आने वाले समय में महिलाओं को कई और योजनाओं से जोड़ा जाएगा. उन्होंने कहा कि महिलाओं को कच्चे माल की आपूर्ति की जाएगी और उन्हें बेहतर डिजाइन के लिए प्रशिक्षित भी किया जाएगा.

 

Also Read

First Published : 01 February 2024, 05:11 PM IST