menu-icon
India Daily
share--v1

दिल्ली में जारी रहेगा हीटवेव का कहर, उत्तर भारत में और चढ़ेगा पारा, पढ़ें देश के मौसम का हाल

दिल्ली में अधिकतम तापमान 43.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अगले कुछ दिनों में 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का अनुमान है. नरेला 46.6 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म क्षेत्र रहा. देश के अन्य राज्यों में भी गर्मी बढ़ गई है.

auth-image
India Daily Live
Heatwave
Courtesy: Social Media

देश की राजधानी दिल्ली गर्मी से जल रही है. सोमवार को एक बार फिर से हीटवेव ने दिल्ली-एनसीआर को चपेट में लिया. गर्मी और लू से लोग परेशान रहे.  मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि अगले कुछ दिनों में पारा 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाएगा. सोमवार को सफदरजंग में अधिकतम तापमान 43.4°C दर्ज किया गया, जो समान्य से अधिक है. 

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, मंगलवार को सफदरजंग में तापमान 44 डिग्री सेल्सियस और बुधवार को 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है. दिल्ली में नरेला सबसे गर्म क्षेत्र रहा, जहां अधिकतम तापमान 46.6 डिग्री सेल्सियस रहा, उसके बाद नजफगढ़ (46.3 डिग्री सेल्सियस) रहा, दोनों ही सामान्य से छह डिग्री अधिक थे.

हीटवेव की घोषणा कब करता है मौसम विभाग

मैदानी इलाकों में तापमान 40 डिग्री से अधिक हो तो मौसम विभार हीटवेव की घोषणा करता है. सोमवार की शुष्क गर्मी था. दिल्ली का हीट इंडेक्स (HI) या "वास्तविक-महसूस" उस दिन के वास्तविक अधिकतम तापमान से बहुत अधिक नहीं था. IMD के बुलेटिन में कहा गया है कि सोमवार को HI 44.5°C था, जो एक दिन पहले 41.5°C था. 

इस मौसम में दिल्ली में पहली बार 17-20 मई तक भीषण गर्मी पड़ी, उसके बाद नम पूर्वी हवाओं ने कुछ राहत पहुंचाई. इसके बाद, 25 मई से 5 जून के बीच 12 दिनों तक भीषण गर्मी पड़ी. इस दौरान, 29 मई को सफदरजंग में अधिकतम तापमान 46.8 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया जो मई में स्टेशन के लिए दूसरा सबसे अधिक तापमान था. 

पंजाब-बिहार समेत कई राज्यों में पड़ रही भीषण गर्मी

राजस्थान, पंजाब और बिहार के कई भागों में सोमवार को अधिकतम तापमान 42-45 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा. हरियाणा, उत्तर प्रदेश के कुछ भागों में पश्चिम बंगाल और पूर्वी मध्य प्रदेश के कुछ स्थानों पर अधिकतम तापमान 42-45 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा. इस बीच महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में सोमवार को शाम सात बजे के बाद भारी बारिश हुई जबकि सुबह तक 24 घंटे की अवधि में 50 मिलीमीटर (एमएम) बारिश दर्ज की गई थी.