share--v1

Farmers Protest 2024: पंजाब से दिल्ली तक हिंसा, हाईकोर्ट ने जारी किया नोटिस, जानिए किसान आंदोलन की अब तक की बड़ी बातें

Farmers Protest 2024: किसान संगठनों के आंदोलन को लेकर पंजाब से लेकर दिल्ली तक हाहाकार की स्थिति है. शंभू और जींद बॉर्डर पर किसानों-पुलिस के बीच झड़प भी हुई है.

auth-image
India Daily Live
फॉलो करें:

Farmers Protest 2024: पंजाब से लेकर दिल्ली तक किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है. कई जगहों पर हिंसा भी हुई है. प्रदर्शनकारी किसानों के उग्र रूप को देखते हुए पुलिस ने जींद और शंभू बॉर्डर पर आंसू गैस के गोले दागे हैं. कई स्थानों पर रास्ते रुकने के कारण आम लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई के दौरान किसान आंदोलन से जुड़े सभी पक्षों (केंद्र, राज्य सरकारों और किसान संगठनों) को नोटिस जारी किया है. 

जानिए किसान आंदोलन से जुड़ी अब तक की बड़ी बातें

1. किसान के दिल्ली कूच के बीच किसान नेता जगजीत सिंह दलेवाल ने कहा है कि सरकार की ओर से दिए गए प्रस्ताव कोई नए नहीं है. ये सभी प्रस्ताव पुराने हैं. उन्होंने कहा है कि हम अपनी सभी मांगों पर विस्तार से चर्चा चाहते हैं. साथ ही इस बार कोई भी हिंसा नहीं चाहते हैं. दलेवाल ने ये भी कहा कि सरकार हमसे सीधी बात करे, क्योंकि इससे हमारा और सरकार का समय बर्बाद नहीं होगा. 

2. किसानों के आंदोलन को देखते हुए कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा है कि हम सभी मुद्दों पर समाधान खोजने में लगे हुए हैं. उन्होंने किसान आंदोलन को लेकर एक प्रेस वार्ता में कहा कि कई मुद्दों पर सहमति बन गई है, लेकिन कुछ मुद्दों पर अभी चर्चा बाकी है. जल्द ही पूर्ण समाधान खोजा जाएगा. 

3. मुद्दों को लेकर किसान संगठन और सरकार के मंत्रियों के बीच बैठकों का दौर जारी है. सोमवार शाम से शुरू हुई बैठक कई घंटों तक चली. हालांकि कहा गया है कि किसान संगठनों ने केंद्रीय मंत्रियों की बातों को गौर से सुना है. वहीं पूर्व के किसान आंदोलन में पंजाब के सीएम भगवंत मान ने मध्यस्थता की थी, लेकिन कल की बैठक में वे शामिल नहीं हुए. 

4. दिल्ली की सीमा से लगे गाजीपुर, टिकरी और सिंघु बॉर्डर पर भारी संख्या में फोर्स तैनात है. पुलिस ने एहतियात के तौर पर इन सभी इलाकों में धारा 144 लागू की है. किसी भी तरह के प्रदर्शन या सभाओं पर पूरी तरह से रोक लगा दी है. उधर बॉर्डर सील होने के कारण भारी से छोटे वाहनों तक की एंट्री रोक दी गई है. 

5. पंजाब पुलिस ने प्रदर्शनकारी किसानों को राजपुरा बाईपास पार करने की इजाजत दे दी. हालांकि पंजाब-हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर तनाव बढ़ गया है, क्योंकि प्रदर्शनकारी किसानों ने ट्रैक्टरों से सीमेंट के बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की है. किसानों ने कड़ी सुरक्षा को तोड़ने का प्रयास करते हुए पुल पर तोड़फोड़ की है. न्यूज एजेंसी एएनआई की ओर से इसका वीडियो भी जारी किया गया है.

 

6. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई की ओर से जारी वीडियो में ड्रोन का इस्तेमाल करते हुए आंसू गैस के गोले छोड़े गए हैं. दूसरी ओर उग्र किसानों को रोकने के लिए उन पर पानी की बौछारों भी की जा रही है. 

7. किसान आंदोलन के कारण बॉर्डर सील होने और हिंसा की घटनाओं से आम लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किया है. ये नोटिस केंद्र सरकार, पंजाब सरकार, हरियाणा सरकार, दिल्ली सरकार और किसान संगठनों के लिए है. नोटिस का जवाब दाखिल करने का आदेश देते हुए हाईकोर्ट ने कहा है कि जल्द से जल्द इस मुद्दे पर समाधान खोजने का प्रयास शुरू किया जाए. 

8. किसान आंदोलन को देखते हुए पंजाब, हरियाणा के कई जिलों में इंटरनेट बैन कर दिया है. साथ ही टैक्स्ट मैसेज की बल्क सेंडिंग भी रोक दी गई है. उधर अधिकारियों का कहना है कि इंटरनेट और टैक्स्ट मैसेज पर रोक से कई दिक्कतें आ रही हैं. प्रभावित इलाकों में स्कूल, कॉलेज, मेडिकल सर्विसेस के वाहनों की आवाजाही बुरी तरह से प्रभावित हो रही है. हालांकि अभी सभी सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है. 

9. किसानों के उग्र आंदोलन के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी का भी बयान सामने आया है. राहुल गांधी ने कहा है कि कांग्रेस प्रत्येक किसान को 'कानूनी गारंटी' दे रही है कि उन्हें स्वामीनाथन आयोग के तहत उनकी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) मिलेगा. माना जा रहा है कि लोकसभा चुनावों को देखते हुए राहुल गांधी ने गारंटी कार्ड खेला है. 

10. किसान आंदोलन को देखते हुए उत्तर प्रदेश में भी अलर्ट जारी किया गया है. उधर, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल में भी किसान संगठनों की ओर से हो रहे प्रदर्शन में हिंसा की खबरें सामने आ रही हैं. पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में पुलिस ने प्रदर्शनकारी किसानों पर वाटरकैनन से पानी की बौछार कीं. साथ ही लाठीचार्ज किया. मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी का कहा है कि नई सरकार ने अपने कार्यकाल के पहले साल में 2 लाख नौकरियां देने का वादा किया था, लेकिन फिर ऑनलाइन जुए को वैध कर दिया. यहां भी किसानों पर पानी की बौछार की गई है.

Also Read

First Published : 13 February 2024, 05:32 PM IST