menu-icon
India Daily
share--v1

आग के तांडव में धुंधली हुई शाहजहां के 'चांदनी चौक' की रौनक, करोड़ों का माल स्वाहा; जानिए इतिहास

Delhi Chandni Chowk Fire Break Out: राजधानी दिल्ली के बेहद भीड़भाड़ और संकरी गलियों वाले चांदनी चौक के मारवाड़ी कटरा में गुरुवार भीषण आग लग गई. जानकारी के अनुसार आग एक दुकान में लगी थी जो धीरे-धीरे बड़े इलाके में फैल गई. ये इलाका ऐतिहासिक महत्व का है क्योंकि इसे शाहजहां ने बनवाया था. आइये जानें इसका इतिहास और आज लगी आग की घटना की पूरी जानकारी.

auth-image
Shyam Datt Chaturvedi
Delhi Chandni Chowk
Courtesy: Social Media

Delhi Chandni Chowk Fire Break Out: करीब 370 साल पहले दिल्ली का मशहूर चांदनी चौक बाजार शाहजहां ने अपनी बेटी के लिए बनवाया था. इसके बाद वो इतना फेमस हुआ की आज ये दुनिया के फेमस बाजारों में से एक है. हालांकि, धीरे-धीरे लापरवाही और अतिक्रमण के कारण अब इलाका डेंजर बन गया है. इसी का परिणाम था कि आज यहां भीषण आग लग गई. गमीनत रही कि इसमें कोई जनहानि नहीं हुई लेकिन करोड़ों का माल स्वाहा हो गया. आइये इस घटना को और यहां के इतिहास को जानें.

घटना की जानकारी के बाद दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग पर काबू पा लिया. तब तक करोड़ों का माल जलकर स्वाहा हो गया था. जानकारी के अनुसार, फायर टेंडर की 30 गाड़ियां शाम 5 बजे आग बुझाने के काम में लग गई थी. कड़ी मशक्कत के बाद इसमें काबू पा लिया गया लेकिन तब तक करोड़ों का सामान जल गया था.

क्या है आज की घटना?

दिल्ली फायर सर्विस के अधिकारी अतुल गर्ग ने बताया कि घटना चांदनी चौक के नई सड़क इलाके के मारवाड़ी कटरा की है. आग बुझाने के लिए दमकल की 30 गाड़ियां काम पर लगाई गईं थी. आग मारवाड़ी कटरा के 1580-81 नवंबर में लगी और धीरे-धीरे फैल गई. घटना ऐसे समय में हुई जब यहां काफी भीड़ रहती है. हालांकि, इसमें कोई हताहत नहीं हुआ. अभी भी अधिकारियों की टीम मौके पर है. फिलहाल इलाके में धुएं का गुबार फैला हुआ है.

चांदनी चौक का इतिहास

चांदनी चौक पहले शाहजहानाबाद के नाम से जाना जाता था. यहां लोग खरीदारी के लिए आते थे. इतिहासकार बताते हैं कि शाहजहां की बेटी जहांआरा के खरीदारी के शौक को पूरा करने के लिए इस बाजार को बनवा दिया. चौकोर डिजाइन वाले बाजार का निर्माण सऩ़ 1650 में शुरू हुआ था. इसके बीच में कुछ जगह थी जहां यमुना नदी का पानी आता था.बाद में चांदी के काम और यमुना नदी में चांद की रोशनी से इलाके के जगमग होने के कारण इसका नाम चांदनी चौक पड़ गया.

फेमस बाजार है

चांदनी चौक दिल्ली के सबसे फेमस बाजार में से एक है. इसके चर्चे दुनियाभर में होते रहते हैं. इसके ठीक सामने लाला किया है और नजदीक में जामा मस्जिद है. इसी बाजार में गुरुद्वारा और जैन मंदिर के साथ अन्य मंदिर भी हैं जिस कारण यहां हर धर्म और वर्ग के लोग पहुंचते हैं. पुराना बाजार होने के कारण यहां गलियां काफी संकरी हैं. ये फुटकर के साथ थोक बाजार के लिए फेमस है. यहां खाने के लिए एक से एक व्यंजन भी मिल जाते हैं.