menu-icon
India Daily
share--v1

पत्नी सुनीता संग सीएम केजरीवाल की नहीं हुई फेस टू फेस मुलाकात, BJP-जेल प्रशासन पर संजय सिंह का बड़ा आरोप

सीएम अरविंद केजरीवाल और उनकी पत्नी के बीच फेस टू फेस मुलाकात नहीं कराए जाने तो लेकर संजय सिंह  ने बड़ा आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के इशारे पर केजरीवाल को प्रताड़ित किया जा रहा है, उन्हें बुनियादी अधिकारों से वंचित किया जा रहा है.

auth-image
India Daily Live
Sanjay Singh
Courtesy: Aam Aadmi Party

दिल्ली आबकारी नीति मामले में गिरफ्तारी के बाद तिहाड़ जेल में बंद सीएम केजरीवाल को लेकर आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने एक बड़ा दावा किया है. संजय सिंह ने कहा है कि सीएम केजरीवाल को उनकी पत्नी से व्यक्तिगत तौर पर मुलाकात करने की अनुमति नहीं दी गई है. उन्होंने कहा कि सीएम केजरीवाल और उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल की मुलाकात सिर्फ और सिर्फ खिड़की के जरिए ही हो सकती है. संजय सिंह ने इस कदम को अमानवीय बताया है. 

दिल्ली में मीडिया कर्मियों से बात करते हुए संजय सिंह ने कहा कि खूंखार अपराधियों को भी अपने बैरक में बैठक करने की अनुमति है लेकिन दिल्ली के तीन बार के मुख्यमंत्री को उनकी पत्नी से एक खिड़की के बीच में शीशा लगाकर मुलाकात कराई जा रही है. ऐसा अमानवीय व्यवहार क्यों? उन्होंने कहा कि जब सुनीता केजरीवाल ने अपने पति से मुलाकात के लिए आवेदन किया तो उनसे कहा गया कि वे केवल आमने-सामने ही मुलाकात कर सकते हैं.

पीएम के इशारे पर केजरीवाल प्रताड़ित- संजय सिंह

संजय सिंह ने कहा कि उन्हें एक कमरे के अंदर व्यक्तिगत रूप से मिलने से मना कर दिया गया और केवल खिड़की के माध्यम से एक-दूसरे से मिलने की अनुमति दी गई. दिल्ली के मुख्यमंत्री को अपमानित करने और उनका मनोबल तोड़ने के लिए ऐसे किया जा रहा था. संजय सिंह ने आगे कहा कि केंद्र सरकार और पीएम मोदी के इशारे पर अरविंद केजरीवाल को प्रताड़ित किया जा रहा है, उन्हें बुनियादी अधिकारों से वंचित किया जा रहा है.

'केजरीवाल और भगवंत मान की बैठक रद्द'

तिहाड़ जेल में 15 अप्रैल को सीएम केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के बीच होने वाली मुलाकात को रद्द करने का दावा करते हुए संजय सिंह ने कहा कि अरविंद केजरीवाल और भगवंत मान के बीच होने वाली बैठक भी आखिरी समय में रद्द कर दी गई थी. उन्होंने कहा कि तिहाड़ जेल अधिकारियों ने सीएम मान और केजरीवाल को अब खिड़की के जरिए मुलाकात करनी होगी.

अरविंद केजरीवाल से इतना डर क्यों- संजय सिंह

संजय सिंह ने दावा करते हुए आगे कहा कि सहारा इंडिया परिवार के दिवंगत संस्थापक सुब्रत रॉय के पास तिहाड़ में इंटरनेट, फोन और कार्यालय की सुविधाएं थीं, जबकि चंद्र बंधुओं को जेल परिसर में नियमित बैठक करने और फाइलों पर हस्ताक्षर करने की भी अनुमति थी. उन्होंने सवाल करते हुए आगे कहा कि आप अरविंद केजरीवाल से इतना डरते क्यों हैं?.