menu-icon
India Daily
share--v1

'मैं शायद थोड़ा कन्फ्यूज हो रहा हूं...', आखिर क्यों वायरल हो गया मनोज तिवारी का यह इंटरव्यू

Manoj Tiwari Video: बीजेपी सांसद मनोज तिवारी की लोकसभा सीट पर वोटिंग से ठीक पहले उनका एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गया है. इसमें वह गरीबी को लेकर किए गए एक सवाल का जवाब दे रहे थे.

auth-image
India Daily Live
Manoj Tiwari
Courtesy: Social Media

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद और मशहूर भोजपुरी गायक मनोज तिवारी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. लगभग एक महीने पहले दिए गए एक इंटरव्यू का छोटा सा क्लिप सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गया है. इस वीडियो में मनोज तिवारी एक सवाल का जवाब देते समय अटक गए थे. मनोज तिवारी ने पहले तो कुछ आंकड़े रखे लेकिन सवाल-जवाब होने पर वह अटक गए और कहा कि वह कन्फ्यूज हो रहे हैं. अब यही वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर चर्चा बटोर रहा है, जिसमें वह देश के आर्थिक हालात और गरीबी से जुड़े सवालों के जवाब दे रहे थे.

'जिस्ट' को दिए इसी इंटरव्यू में मनोज तिवारी ने कहा कि 25 करोड़ गरीब गरीबी रेखा से नीचे आ गए और तीसरे कार्यकाल में हम लोग 50 पर्सेंट और गरीब, गरीबी रेखा से ऊपर आ जाएंगे. इस पर पत्रकार ने उनसे पूछा, '80 करोड़ लोगों को आप फ्री अनाज देते हैं, 25 करोड़ लोगों को आपने कहा कि गरीबी रेखा से बाहर निकाल दिया है. इसका मतलब कुल 105 करोड़ लोग गरीबी रेखा से नीचे जी रहे हैं?'

कहां अटक गए मनोज तिवारी?

इसी सवाल के जवाब में मनोज तिवारी ने BPL को समझाने की कोशिश की तो मामला अटक गया. इस पर मनोज तिवारी ने कहा, 'मैं शायद इसमें थोड़ा सा कन्फ्यूज हो रहा हूं.' अब इसी को लेकर विपक्षी पार्टियों की ओर से बीजेपी सांसद मनोज तिवारी का यह वीडियो जमकर शेयर किया जा रहा है और सवाल उठाए जा रहे हैं कि आखिर सांसद को इतनी भी जानकारी क्यों नहीं है? बता दें कि मनोज तिवारी उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से दो बार के सांसद हैं और तीसरी बार भी बीजेपी ने उन्हीं को कैंडिडेट बनाया है.

मनोज तिवारी ने अपना पहला चुनाव योगी आदित्यनाथ के खिलाफ लड़ने के बारे में भी बताया. मनोज तिवारी ने कहा कि वह अमर सिंह के कहने पर सपा में शामिल हुए थे लेकिन उन्हें पता नहीं था कि गोरखपुर में योगी आदित्यनाथ के खिलाफ ही चुनाव लड़ना पड़ेगा. उन्होंने यह भी कहा कि एक बार तो उनको सपा के लोगों ने ही कहा कि वह कहां चुनाव लड़ने आ गए हैं.