share--v1

Lok Sabha Election 2024 : बड़ी धाकड़ हैं Bansuri Swaraj, Minakshi Lekhi का किया पत्ता साफ!

auth-image
Priyank Bajpai
फॉलो करें:

Lok Sabha Election 2024: आगामी लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए बीजेपी ने इस बार कई दिग्गज नेताओं का पत्ता साफ करके नए चेहरों पर दांव लगाया है. इसकी एक झलक दिल्ली में भी देखने को मिली. जहां बीजेपी ने अपनी केन्द्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी का टिकट काटकर बांसुरी स्वराज को उम्मीदवार घोषित कर दिया है. पहली बार चुनावी मैदान में उतरी बांसुरी स्वराज पर बीजेपी ने रिस्क क्यों लिया है, ये सवाल अब हर किसी के दिमाग में कुलांचे मार रहा है. आइए जानते हैं कौन हैं बांसुरी स्वराज और बीजेपी ने उन पर दांव क्यों लगाया है.

बांसुरी स्वराज पूर्व विदेश मंत्री दिवंगत सुषमा स्वराज की बेटी हैं. पेशे से वकील बांसुरी का जन्म दिल्ली में 1982 में हुआ था. विदेश से पढ़ाई करने वाली बांसुरी स्वराज को 2007 में बार काउंसिल ऑफ दिल्ली के लिए नामांकित किया गया था. उन्हें कानूनी पेशे में करीब डेढ़ दशक का अनुभव है. शिक्षा की बात करें तो बांसुरी ने वारविक यूनिवर्सिटी से इंग्लिश लिटरेचर में ग्रेजुएशन की पढ़ाई की है. जिसके बाद वो लंदन के फेमस BPP लॉ स्कूल गईं, जहां उन्होंने कानून की पढ़ाई की.

बांसुरी ने कई हाई प्रोफाइल केस लड़े

उन्होंने लॉ में बैरिस्टर के रूप में योग्यता हासिल कर रखी है. इतना ही नहीं, उन्होंने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के सेंट कैथरीन कॉलेज से अपनी मास्टर ऑफ स्टडीज की डिग्री हासिल की है. बांसुरी ने कई हाई प्रोफाइल मुवक्किलों के केस लड़े हैं. उनके पेशेवर पोर्टफोलियो में कॉन्ट्रैक्ट, रियल एस्टेट, टैक्स, इंटरनेशनल कमर्शियल आर्बिट्रेशन के साथ-साथ कई क्रिमिनल केस शामिल हैं. बांसुरी पर्सनल प्रैक्टिस के साथ-साथ हरियाणा के लिए एडिशनल एडवोकेट जनरल के तौर पर भी नियुक्त रह चुकी हैं.

बांसुरी को टिकट दिए जाने पर AAP ने जताई आपत्ति 

राजनीति की बात की जाए तो पिछले साल बांसुरी स्वराज को BJP ने दिल्ली प्रदेश के विधि प्रकोष्ठ का प्रदेश सह-संयोजक बनाया था. जिसके बाद उन्हें सीधे नई दिल्ली लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में उतार दिया गया है. बांसुरी स्वराज को टिकट दिए जाने पर दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने आपत्ति जाहिर की है. उन्होंने कहा है कि नई दिल्ली से इस बार मीनाक्षी लेखी जी का नाम काटकर ऐसे प्रत्याशी को टिकट दिया गया है, जो लगातार देश विरोधियों और लुटेरों के लिए कोर्ट में खड़ी रही हैं. बांसुरी स्वराज ने ललित मोदी को पासपोर्ट केस में डिफेंड किया, जिसके चलते वो देश छोड़कर से फरार हो गया.