menu-icon
India Daily
share--v1

आसमान छू रहे सोने के भाव लेकिन महंगी हो रहीं कांजीवरम साड़ियां, आखिर क्यों? समझ लीजिए

Gold-Silver Price: सोने के दान बढ़ने के वजह से रेशम साड़ियों के भी दाम आसमान छू रहे हैं. पिछले आठ महीनों में कांचीपुरम सिल्क साड़ियों की कीमत 50% तक बढ़ गई है.

auth-image
India Daily Live
Kanchipuram Silk Sarees Price
Courtesy: Pinterest

Kanchipuram Silk Sarees Price: यह साल का वह समय है जब परिवार शादी के लिए कांचीपुरम सिल्क साड़ियां खरीदने के लिए शोरूमों में उमड़ते हैं. लेकिन, यह उनकी जेब पर भारी पड़ रहा है क्योंकि सोने की आसमान छूती कीमतों के कारण रेशम साड़ियों महंगी हो गई है. पिछले आठ महीनों में कांचीपुरम सिल्क साड़ियों की कीमत 50% तक बढ़ गई है. ऐसे में लोग उन साड़ियों को लेना पसंद कर रहें हैं जिनमें सोने और चांदी की मात्रा कम है या जो बिना सोना-चांदी के बनी हो. 

पॉपुलर टेक्सटाइल ब्रांड आरएमकेवी (RmKV) के मैनेजिंग डायरेक्टर ने बताया कि सोने की कीमत बढ़ने बाद बिक्री में 20% की गिरावट देखा गई है. उन्होंने TOI को इंटरव्यू देते हुए जानकारी दी की कई लोग अपना बजट के लेकर आते हैं और कम सोने और चांदी की कांचीपुरम सिल्क साड़ियों को पसंद करते हैं." बता दें, आरएमकेवी (RmKV) ब्रांड कांचीपुरम सिल्क साड़ियों के लिए बेहद मशहूर है. 

अक्टूबर से मई में हुई बढ़तोरी

1 अक्टूबर 2023 को 22 कैरेट सोने की कीमत 5,356 रुपये प्रति ग्राम से बढ़कर 21 मई 2024 को 6,900 रुपये प्रति ग्राम हो गई. इससे कांचीपुरम में 10,000 करोड़ रुपये के सिल्क साड़ी इंडस्ट्री को भारी झटका लगा है. कांचीपुरम सिल्क साड़ी मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन के वीके धमोदरन ने  कहा कि पिछले साल अक्टूबर से इस मई के बीच साड़ियों की कीमत में 40-50% की बढ़ोतरी हुई है. 

कांचीपुरम सिल्क साड़ी के बढ़े दाम

केएस पार्थसारथी हैंडलूम वीवर्स एसोसिएशन के जे कमलानाथन का कहना है कि प्रीमियम साड़ियों का उत्पादन ठप हो गया है. उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि एक रेशम साड़ी जिसकी कीमत पिछले साल अक्टूबर में 70,000 रुपये थी वो अब बढ़कर 1.2 लाख रुपये हो गई है. चूंकि ऐसी साड़ियों के महंगे होने के बाद इसे खरीदने वाले केवल कुछ ही हैं. 

यह साड़ी होती है बेहद खास

रेशम, सोने और चांदी से बुनी कांचीपुरम सिल्क साड़ियां खास मौके और फेस्टिवल पर पहनी जाती हैं. साड़ी बॉर्डर में अपने पैटर्न के लिए पॉपुलर हैं. जीआई-टैग प्रोडक्ट में आधुनिक समय में मांग को पूरा करने के लिए बदलाव आया है, जिसमें इन साड़ियों पर शादी के जोड़ों की छवियां बुनी जाती हैं.