menu-icon
India Daily
share--v1

'किडनैप किया, सर्जरी की और कान के नीचे एक चिप लगा दिया' परवीन बाबी ने अमिताभ बच्चन पर लगाया था सनसनीखेज आरोप

Parveen Babi: बॉलीवुड एक्ट्रेस परवीन बाबी को किसी पहचान की जरूरत नहीं है. एक वक्त था जब एक्ट्रेस की फिल्में पर्दे पर सारे रिकॉर्ड तोड़ती थीं. वहीं, एक वक्त ऐसा भी आया जब परवीन ने सिनेमा जगत के महानायक, अमिताभ बच्चन पर संगीन आरोप भी लगाया.

Srishti Srivastava
Courtesy: parveen babi###Amitabh Bachchan

परवीन बाबी ने साल 1972 में मॉडलिंग से अपने करियर की शुरुआत की. फिर अगले साल ही Charitra मूवी से एक्टिंग की शुरुआत की. उनकी पहली मूवी फ्लॉप रही, लेकिन उन्होंने फिल्ममेकर का ध्यान खींच लिया था. उन्हें साल 1974 में 'मजबूर' फिल्म से पहचान मिली और वो अगले साल 'दीवार' में भी नजर आईं. इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और कई हिट फिल्में कीं.

परवीन बाबी ने साल 1972 में मॉडलिंग से अपने करियर की शुरुआत की. फिर अगले साल ही Charitra मूवी से एक्टिंग की शुरुआत की. उनकी पहली मूवी फ्लॉप रही, लेकिन उन्होंने फिल्ममेकर का ध्यान खींच लिया था. उन्हें साल 1974 में 'मजबूर' फिल्म से पहचान मिली और वो अगले साल 'दीवार' में भी नजर आईं. इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और कई हिट फिल्में कीं.

Courtesy: parveen babi###Amitabh Bachchan

पर्सनल लाइफ की बात करें तो परवीन का नाम कई एक्टर्स संग जुड़ा, लेकिन सबसे पहले वो Danny Denzongpa संग रिलेशनशिप में रहीं. दोनों ने चार साल तक एक-दूसरे को डेट किया. फिर उन्होंने कबीर बेदी और उनके बाद महेश भट्ट को भी डेट किया. कहते हैं कि परवीन अकेले रहती थीं और उन्होंने ईसाई धर्म अपना लिया था.

पर्सनल लाइफ की बात करें तो परवीन का नाम कई एक्टर्स संग जुड़ा, लेकिन सबसे पहले वो Danny Denzongpa संग रिलेशनशिप में रहीं. दोनों ने चार साल तक एक-दूसरे को डेट किया. फिर उन्होंने कबीर बेदी और उनके बाद महेश भट्ट को भी डेट किया. कहते हैं कि परवीन अकेले रहती थीं और उन्होंने ईसाई धर्म अपना लिया था.

Courtesy: parveen babi###Amitabh Bachchan

साल 1983 की बात है, परवीन बाबी ने इंडिया छोड़ दिया था और कई देशों में आध्यात्मिक यात्रा पर चली गई थीं. फिर वो 1989 में मुंबई वापस आईं. अफवाह थी कि वो पैरानॉयड सिजोफ्रेनिया से जूझ रही थीं, लेकिन उन्होंने हमेशा इसका खंडन किया. ये भी बोला कि उनकी इमेज खराब करने के लिए इस तरह की अफवाह उड़ा गई है. उन्होंने अमिताभ बच्चन से लेकर कई बड़ी हस्तियों पर गंभीर आरोप भी लगाए थे.

साल 1983 की बात है, परवीन बाबी ने इंडिया छोड़ दिया था और कई देशों में आध्यात्मिक यात्रा पर चली गई थीं. फिर वो 1989 में मुंबई वापस आईं. अफवाह थी कि वो पैरानॉयड सिजोफ्रेनिया से जूझ रही थीं, लेकिन उन्होंने हमेशा इसका खंडन किया. ये भी बोला कि उनकी इमेज खराब करने के लिए इस तरह की अफवाह उड़ा गई है. उन्होंने अमिताभ बच्चन से लेकर कई बड़ी हस्तियों पर गंभीर आरोप भी लगाए थे.

Courtesy: parveen babi###Amitabh Bachchan

साल 1984 की बात है, परवीन को जॉन एफ कैनेडी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सस्पेक्ट किया गया, क्योंकि वो अपनी पहचान से जुड़े पेपर्स दिखाने में असफल थीं. ऑफिसर्स ने उन्हें हथकड़ी लदा दी और 30 अन्य मानसिक रूप से परेशान मरीजों के साथ एक नॉर्मल वॉर्ड में रखा. साल 1989 में उन्होंने अमिताभ बच्चन पर आरोप लगाया था, 'वो एक सुपर इंटरनेशनल गैंगस्टर हैं. वो मेरी जान के पीछे हैं. उनके गुंडों ने मुझे किडनैप कर लिया और मुझे एक आइलैंड पर रखा गया, जहां उन्होंने मेरी सर्जरी की और मेरे कान के नीचे एक ट्रांसमीटर (चिप) लगा दिया.' एक फोटो भी थी, जिसमें वो कान के नीचे चोट के निशान दिखा रही थीं.

साल 1984 की बात है, परवीन को जॉन एफ कैनेडी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सस्पेक्ट किया गया, क्योंकि वो अपनी पहचान से जुड़े पेपर्स दिखाने में असफल थीं. ऑफिसर्स ने उन्हें हथकड़ी लदा दी और 30 अन्य मानसिक रूप से परेशान मरीजों के साथ एक नॉर्मल वॉर्ड में रखा. साल 1989 में उन्होंने अमिताभ बच्चन पर आरोप लगाया था, 'वो एक सुपर इंटरनेशनल गैंगस्टर हैं. वो मेरी जान के पीछे हैं. उनके गुंडों ने मुझे किडनैप कर लिया और मुझे एक आइलैंड पर रखा गया, जहां उन्होंने मेरी सर्जरी की और मेरे कान के नीचे एक ट्रांसमीटर (चिप) लगा दिया.' एक फोटो भी थी, जिसमें वो कान के नीचे चोट के निशान दिखा रही थीं.

Courtesy: parveen babi###Amitabh Bachchan

साल 2005 में परवीन का 50 साल की उम्र में अपने घर पर निधन हो गया. तीन दिन तक उनका सामान और न्यूजपेपर दरवाजे पर पड़ा था. पुलिस ने बताया कि बॉडी मिलने के 72 घंटे पहले उनकी मौत हो चुकी थी. कहा गया कि वो अपने आखिरी दिनों में चल भी नहीं पा रही थीं. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ये भी कहा गया कि उन्होंने लगभग तीन दिन से कुछ नहीं खाया था और भूख से तड़पते हुए उनकी जान चली गई.

साल 2005 में परवीन का 50 साल की उम्र में अपने घर पर निधन हो गया. तीन दिन तक उनका सामान और न्यूजपेपर दरवाजे पर पड़ा था. पुलिस ने बताया कि बॉडी मिलने के 72 घंटे पहले उनकी मौत हो चुकी थी. कहा गया कि वो अपने आखिरी दिनों में चल भी नहीं पा रही थीं. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ये भी कहा गया कि उन्होंने लगभग तीन दिन से कुछ नहीं खाया था और भूख से तड़पते हुए उनकी जान चली गई.