menu-icon
India Daily
share--v1

Britain Visa Rules: सुनक के फैसले ने बढ़ाई भारतीयों की चिंता, ब्रिटेन में सख्त हुए वीजा नियम

Britain Visa Rules:  ब्रिटेन की सरकार ने देश में बढ़ रही अप्रवासियों को लेकर चिंता जाहिर की है. नए नियमों की घोषणा पर सुनक ने कहा कि यह नियम प्रवासन को कम करने में मदद करेंगे और इससे लाभ केवल देश को होगा. 

auth-image
Shubhank Agnihotri
Sunak

हाइलाइट्स

  • ब्रिटेन के इतिहास में पहली बार ऐसा निर्णय 
  • भारतीय आवेदकों की संख्या में 76 फीसदी बढ़ोत्तरी

Britain Visa Rules:  ब्रिटेन की सरकार ने देश में बढ़ रही अप्रवासियों को लेकर चिंता जाहिर की है. इसके अलावा सरकार ने अप्रवासियों की संख्या कम करने के लिए नए नियमों की घोषणा की है. ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने कहा है कि इस निर्णय से लगभग 300,000 लोग प्रभावित होंगे. यह लोग नए नियमों के तहत लंदन में प्रवेश के पात्र नहीं होंगे. इससे पहले यूके के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने कहा था कि ब्रिटेन में प्रवासन का स्तर बहुत खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है और हम इसे बदलने को लेकर प्रतिबद्ध है. 

ब्रिटेन के इतिहास में पहली बार ऐसा निर्णय 

सुनक ने अपनी सोशल मीडिया पोस्ट पर कहा कि हमने नेट माइग्रेशन में अब तक की सबसे बड़ी कटौती की घोषणा की है. इससे पहले किसी भी ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने ऐसा नहीं किया है. नए नियमों में विदेशी कामगारों के कौशल के लिए स्किल बेस्ड वीजा प्राप्त करने के लिए उच्च वेतन सीमा निर्धारित की गई है. पीएम ने कहा कि इसके अलावा लोग अपने परिवार के सदस्यों को अपने आश्रित के रूप में नहीं ला सकेंगे. सुनक ने कहा कि यह नियम प्रवासन को कम करने में मदद करेंगे और इससे लाभ केवल देश को होगा. 

 


अपने आश्रितों को साथ नहीं ला सकेंगे 

ब्रिटेन के गृह सचिव जेम्स क्लेवरली ने हाउस ऑफ कॉमन्स में घोषणा की कि, इस कार्रवाई के तहत स्वास्थ्य और देखभाल वीजा पर डॉक्टर अब अपने परिवार के किसी भी सदस्य को अपने साथ नहीं लेकर जा सकेंगे. ऐसे में एक बात तय है कि इस फैसले का असर भारतीयों पर भी होगा. वहीं, कुशल श्रमिक वीजा के जरिये ब्रिटेन आने के लिए आवेदन करने वालों के लिए वेतन सीमा वर्तमान 26,200 ब्रिटिश पौंड से बढ़ाकर 38,700 ब्रिटिश पाउंड कर दी जाएगी. 

 

भारतीय आवेदकों की संख्या में 76 फीसदी बढ़ोत्तरी 

ब्रिटेन के गृह सचिव जेम्स क्लेवरली के मुताबिक, यह सीमा पारिवारिक वीजा श्रेणी पर भी लागू होगी जो फिलहाल 18,600 ब्रिटिश पाउंड है. नए नियम 2024 की शुरुआत से प्रभावी होंगे. क्लेवरली ने बताया कि छात्रों के आश्रितों पर रोक के कारण 3,00,000 कम लोग ब्रिटेन आएंगे. ब्रिटिश अधिकारियों के मुताबिक, स्वास्थ्य वीजा से जुड़े भारतीय आवेदकों की संख्या में 76 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है.