share--v1

Iran Force: ईरान की सेना ने पाकिस्तान में किया अटैक, जैश अल-अदल के आतंकवादियों को मार गिराया

Iran Force: ईरान की सेना ने पाकिस्तान में घुसकर हमला किया है. ईरान के सरकारी मीडिया के हवाले से दावा किया गया है कि ईरान की सेना ने पाकिस्तानी में घुसकर आतंकियों को निशाना बनाया है.

auth-image
India Daily Live

Iran Force: ईरान की सेना ने पाकिस्तान में घुसकर हमला किया है. ईरान के सरकारी मीडिया के हवाले से दावा किया गया है कि ईरान की सेना ने पाकिस्तानी क्षेत्र में जैश अल-अदल के वरिष्ठ आतंकवादी समूह कमांडर इस्माइल शाहबख्श और उसके कुछ साथियों को मार डाला. ईरान ने एक महीने पहले भी पाकिस्तानी क्षेत्र में ​घुसकर जैश अल-अदल के ठिकानों पर हवाई हमले किए थे. इसके जवाब में पाकिस्तान ने भी ईरानी क्षेत्र में एयरस्ट्राइक की थी. 

अल अरबिया न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, जैश अल-अदल को ईरान ने आतंकवादी संगठन घोषित कर रखा है. ईरान ने इसे 'आतंकवादी समूह' घोषित कर रखा है. यह संगठन ईरान के दक्षिणपूर्वी प्रांत सिस्तान-बलूचिस्तान से संचालित होता है. सुन्नी आतंकवादी ग्रुप का गठन 2012 में किया गया था. पिछले कुछ सालों में जैश अल-अदल ने ईरानी सुरक्षा बलों पर कई हमले किए हैं. अल अरबिया न्यूज के मुताबिक, दिसंबर में जैश अल-अदल ने सिस्तान-बलूचिस्तान में एक पुलिस स्टेशन पर हमले की जिम्मेदारी ली थी, जिसमें कम से कम 11 पुलिस कर्मियों की जान चली गई थी. 

ईरान-पाकिस्ता के बीच तनाव

गौरतलब है कि ईरान और पाकिस्तान द्वारा के बीच पिछले कुछ दिनों में तनाव बढ़े हैं. आतंकवादी संगठनों' को निशाना बनाकर एक-दूसरे पर मिसाइल हमले करने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था. हालांकि बातचीत के बाद दोनों देश के बीच तनाव कम करने के प्रयास किया गया. समझौते की घोषणा पाकिस्तान के विदेश मंत्री जलील अब्बास जिलानी और उनके ईरानी समकक्ष होसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन की ओर से पाकिस्तान विदेश कार्यालय में एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन के दौरान की गई.

जनवरी में बन गए थे जंग के हालात

ईरान की सेना ने 16 जनवरी को पाकिस्तान में मिसाइल हमला किया था. दावा किया कि कई आतंकी ठिकानों को निशाना बनाकर नष्ट कर दिया.  इस्लामाबाद ने आरोप लगाया था कि ईरानी हमलों में दो बच्चों की मौत हो गई और तीन लड़कियां घायल हो गईं. पाकिस्तान ने जवाबी हमला किया. पाकिस्तान की वायु सेना ने ईरान की सीमा में हमले किए.