share--v1

चीनी कपल ने 15वीं मंजिल से बच्चों को नीचे फेंका, अब अदालत ने सुनाई मौत की सजा 

China News: चीन के चोंगकिंग में एक युवक और उसकी गर्लफ्रेंड को मौत की सजा सुनाई गई है. आरोप है कि युवक ने साल 2020 में अपने दो बच्चों को बिल्डिंग के 15वें माले से नीचे फेंक दिया था.

auth-image
Shubhank Agnihotri
फॉलो करें:

हाइलाइट्स

  • बच्चों की हत्या के लिए कपल ने रचा नाटक
  • सुप्रीम पीपुल्स कोर्ट ने बरकरार रखा फैसला 

China News: चीन के चोंगकिंग में एक युवक और उसकी गर्लफ्रेंड को मौत की सजा सुनाई गई है. आरोप है कि युवक ने साल 2020 में अपने दो बच्चों को बिल्डिंग के 15वें माले से नीचे फेंक दिया था. युवक को ऐसा करने के लिए उसकी गर्लफ्रेंड ने प्रोत्साहित किया था. चीन की शीर्ष अदालत ने सुनवाई के बाद कपल को सजा सुनाई है. 

बच्चों की हत्या के लिए रचा नाटक

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सुप्रीम पीपुल्स कोर्ट ने केस की सुनवाई के बाद कहा कि युवक झांग बो और युवती चेंगचेन ने पूर्व नियोजित तरीके से हत्या की थी.युवक झांग अपने बच्चों को शादी में बाधा मान रहा था. इसी वजह से उसने बच्चों की हत्या करने का नाटक रचा. इस वजह से दो छोटे बच्चों  2 साल की लड़की और एक साल के लड़के की मौत हो गई. 

शादी में बाधा बन रहे थे बच्चे 

रिपोर्ट के अनुसार, झांग ने युवती ये को बिना बताए उसके साथ एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर शुरू किया था.  युवक ने ये को नहीं बताया था कि वह शादीशुदा है और उसके दो बच्चे हैं.  फरवरी 2020 में अपनी पत्नी को तलाक देने के बाद युवती ने झांग से दोनों बच्चों की हत्या करने को कहा. युवती दोनों बच्चों को अपनी शादी में बाधा माना और उनकी हत्या के लिए झांग को मजबूर किया. 

सुप्रीम पीपुल्स कोर्ट ने बरकरार रखा फैसला 

चोंगकिंग नंबर 5 इंटरमीडिएट पीपुल्स कोर्ट ने 28 दिसंबर 2021 को अपने फैसले में कपल को मौत की सजा सुनाई थी. इसके बाद कपल ने फैसले के खिलाफ अपील की. 6 अप्रैल 2023 को झांग और ये का दूसरा केस चोंगकिंग हायर पीपुल्स कोर्ट में शुरू हुआ. चोंगकिंग हायर पीपुल्स कोर्ट ने मूल फैसले को बरकरार रखा. कोर्ट के इस फैसले को सुप्रीम पीपुल्स कोर्ट में पेश किया गया. चीन में निचली अदालत द्वारा मौत की सजा की समीक्षा के लिए सुप्रीम पीपुल्स कोर्ट में पेश किया जाता है. इसके बाद मौत की सजा दी जाती है. 

Also Read

First Published : 01 February 2024, 04:58 PM IST