menu-icon
India Daily
share--v1

डीपफेक वीडियो और YouTube पर केंद्र सरकार सख्त, लाने जा रही डिजिटल इंडिया बिल 

Digital India Bill : केंद्र सरकार डीपफेक कॉन्टेंट और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की चुनौतियों से निपटने के लिए लोकसभा के आगामी सत्र में एक नया बिल लाने वाली है. रिपोर्ट के अनुसार, इस बिल का नाम डिजिटल इंडिया बिल बताया जा रहा है. सरकार इस बिल में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को रेग्यूलेट करने वाले कड़े नियमों का प्रावधान कर सकती है. नई चुनी हुई सरकार का लोकसभा का अगला सत्र 24 जून से शुरु होने वाला है.

auth-image
India Daily Live
Modi On AI
Courtesy: Social Media

Digital India Bill : मोदी सरकार आने वाले लोकसभा सत्र में एआई और डीपफेक वीडियो और फोटोज पर नजर रखने के लिए डिजिटल इंडिया बिल लेकर आने वाली है. रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार की ओर से लाए जाने वाले इस बिल में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के और बेहतर तरीकों से प्रयोग करने पर भी ध्यान देने का प्रयास होगा. इस बिल का नाम डिजिटल इंडिया बिल होगा. कहा जा रहा है सरकार इस बिल को सदन में पेश करने से पहले सभी राजनीतिक दलों से इस पर आम सहमति बनाने के प्रयास करेगी. 

रिपोर्ट के अनुसार, आने वाले लोकसभा सत्र में सरकार फेसबुक, यूट्यूब और फेसबुक सहित अन्य डिजिटल प्लेटफॉर्म को रेग्यूलेट करने के लिए कानून लेकर आ सकती है. लोकसभा का अगला सत्र नई सरकार का पहला लोकसभा सत्र होगा. इस सत्र की शुरुआत 24 जून से होगी. इसके बाद अगले महीने यानी जुलाई से मानसून सत्र की शुरुआत होगी जो 22 जुलाई से प्रारंभ होकर 9 अगस्त तक चलेगा. 

नई सरकार में लाया जाएगा बिल 

पिछली सरकार में केंद्रीय राज्यमंत्री राजीव चंद्रशेखर ने इस बिल को लाने के संकेत पहले ही दे दिए थे. केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि हम इस बारे में सोच रहे हैं इसको नई सरकार के द्वारा लागू किया जाएगा. उन्होंने कहा था कि मुझे नहीं लगता कि हम चुनाव से पहले इस बिल को लाने के लिए तैयार हैं. इस बिल को सदन में लाने से पहले हमें कई चीजों को ध्यान में रखना होगा.कई मसलों को लेकर सलाह-मशविरा करनी होगी. इसके बाद ही हम इसे सदन के पटल पर लाने में सक्षम हो पाएंगे. 


क्या है डीपफेक तकनीक? 

डीपफेक एक तकनीक है जिसने लोगों के मन में संदेह पैदा किया है. लोगों के मन में भ्रम और उनकी प्राइवेसी के लिए गंभीर खतरा बन चुकी यह तकनीक सरकार की टॉप प्रॉयोरिटी में से एक है. लोकसभा चुनाव से पहले चुनाव आयोग ने भी इसको लेकर चिंता जाहिर की थी. फिल्म अभिनेत्री रश्मिका मंधाना और काजोल की डीपफेक वीडियो वायरल होने के बाद लोगों ने इसको लेकर चिंता जतानी शुरू की थी.