share--v1

India Daily Live Chhattisgarh Exit Poll Results 2023: छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का कमाल! देखें सबसे सटीक एग्जिट पोल

पांचों राज्यों में सिर्फ छत्तीसगढ़ ही एक ऐसा राज्य था, जहां 7 और 17 नवंबर को दो चरणों में वोटिंग हुई थी. छत्तीसगढ़ की 90 सीटों पर जनता अपने फैसले की मुहर लगा चुकी है.

auth-image
Om Pratap
फॉलो करें:

हाइलाइट्स

  • इंडिया डेली लाइव पर देखें राज्य के सबसे सटीक आंकड़े
  • भाजपा और कांग्रेस में किसके मुद्दों में रहा दम, किसकी निकली हवा

India Daily Live Rajasthan Exit Poll Results 2023: मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, मिजोरम और तेलंगाना में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान हो चुका है. इन पांचों राज्यों में सिर्फ छत्तीसगढ़ ही एक ऐसा राज्य था, जहां 7 और 17 नवंबर को दो चरणों में वोटिंग हुई थी. छत्तीसगढ़ की 90 सीटों पर जनता अपने फैसले की मुहर लगा चुकी है. वर्तमान में यहां भूपेश बघेल के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार है. 

छत्तीसगढ़ में इस बार 76.31 फीसदी हुआ मतदान

छत्तीसगढ़ में इस बार कुल मतदान 76.31 फीसदी हुआ है. जबकि पिछली बार यानी साल 2018 में यहां 76.88 फीसदी मतदान हुआ था. यहां विधानसभा की कुल 90 सीटें हैं, लिहाजा किसी भी पार्टी को यहां सरकार बनाने के लिए 46 सीटों की जरूरत होगी. रिपोर्ट्स के अनुसार साल 2018 में 68 सीटें जीतकर स्पष्ट बहुमत की सरकार बनाई थी. पिछली जीत को देखकर इस बार भी कांग्रेस आत्म विश्वास से लबरेज है. 

ये है छत्तीसगढ़ का एग्जिट पोल

इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया के अनुसार, कांग्रेस को 40-50, भाजपा के 36-46 और अन्य को 1-5 सीटें मिल रहे हैं.
सी वोटर के अनुसार, कांग्रेस को 41-53, भाजपा को 36-48 और अन्य को 0-4 सीटें मिल रही हैं.
मैट्रिज के अनुसार कांग्रेस को 44-52, भाजपा को 34-42 और अन्य को 0-2 सीटें मिल रही हैं.
टाइम्स नाउ-ईटीजी के सर्वे में कांग्रेस को 35, भाजपा को 46 और अन्य को 4-8 सीटें मिलती दिखाई गई हैं.
न्यूज 24- पेस मीडिया के एग्जिट पोल में कांग्रे को 48, भाजपा को 38 और अन्य को 4 सीटें मिल रही हैं.
पोलस्टार्ट के सर्वे में कांग्रेस को 40-50, भाजपा को 35 से 45 और अन्य को 0 से 3 सीटें दिखाई गई हैं.

भाजपा और कांग्रेस में इन मुद्दों पर हुई चुनावी जंग

भाजपा अगर चुनाव में कांग्रेस पर असर डालती है, तो इसके पीछे कोयला खनन, शराबबंदी (इस मुद्दे पर 2018 में कांग्रेस को महिलाओं के वोट मिले थे), कोयला लेवी रैकेट आदि हो सकता है. हालांकि इसकी संभावनाएं कम हैं.

कांग्रेस अगर जीतती है, तो इसके पीछे कर्जमाफी, बघेल के सामने रमन को छोड़ कोई बड़ा नेता न होना हो सकता है.महतारी वन्दन योजना' है. इसके तहत प्रदेश की प्रत्येक विवाहित महिला को 12 हजार रुपये की वार्षिक वित्तीय सहायता दी जाएगी. रानी दुर्गावती योजना के तहत BPL वर्ग की बालिकाओं के जन्म पर 1 लाख बाजार का आश्वासन प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा.

Also Read

First Published : 30 November 2023, 06:11 PM IST