share--v1

जेल में हेमंत सोरेन, विधायकों को हैदराबाद ले जाने वाली फ्लाइट कैंसिल, झारखंड में नई सरकार का संकट बरकरार

Hemant Soren: झारखंड में नई सरकार के गठन को लेकर अभी भी सस्पेंस बरकरार है. हेमंत सोरेन की रात होटवार जेल के अपर डिवीजन सेल बीतेगी.

auth-image
Gyanendra Sharma
फॉलो करें:

Hemant Soren: झारखंड में नई सरकार के गठन को लेकर अभी भी सस्पेंस बरकरार है. हेमंत सोरेन की रात होटवार जेल के अपर डिवीजन सेल बीतेगी. इस बीच रांची स्थित बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर दो घंटे से ज्यादा चार्टर्ड प्लेन में बैठे रहे, लेकिन घने कोहरे की वजह से विमान नहीं उड़ सका. सर्किट हाउस में ठहरे विधायकों को दो बस से एयरपोर्ट पहुंचाया गया था. फ्लाइट रद्द होने के बाद विधायक एक बार फिर से सर्किट हाउस लौट आए हैं.

राजभवन से शपथ ग्रहण का न्योता नहीं मिला

झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन के नए नेता चंपई सोरेन ने गुरुवार शाम राजभवन पहुंचकर सरकार के लिए एक बार फिर दावेदारी पेश की, लेकिन, राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने कहा कि वह इस बारे में अपना निर्णय अगले दिन बताएंगे. चंपई सोरेन को राजभवन की ओर से अभी तक शपथ ग्रहण का न्योता नहीं मिला है. राज्यपाल से मुलाकात के बाद चंपई सोरेन ने बताया कि उन्होंने गर्वनर से जल्द से जल्द फैसला लेने का अनुरोध किया है, उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने कल तक का समय मांगा है. कल कोई फैसला लेंगे. 

राज्यपाल को चंपई सोरेन दिखाया वीडियो

हेमंत सोरेन ने ईडी की पूछताछ के बाद बुधवार की रात करीब साढ़े आठ बजे सीएम पद से इस्तीफा दिया. इसके बाद चंपई सोरेन को विधायक दल का नेता चुना गया. चंपई सोरेन ने 43 विधायकों के हस्ताक्षर वाला पत्र राज्यपाल को सौंपकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था. इसी बीच एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें विधायक गिनती बोलते हुए नजर आ रहे हैं और इस तरह वह यह दिखा रहे हैं कि उनका समर्थन चंपई सोरेन के साथ है.  उन्होंने चंपई सोरेन को समर्थन देने का दावा किया है.

 

महागठबंधन के पास 47 विधायक

बता दें कि झारखंड में सराकर बनाने के लिए 41 विधायकों की जरूरत होती है. 81 सदस्यों वाली झारखंड विधानसभा में फिलहाल महागठबंधन (झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस, वाम दल और राजद) के विधायकों की संख्या 47 है. वहीं, विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के पास 30 विधायक हैं. 
 

Also Read

First Published : 01 February 2024, 10:21 PM IST