share--v1

Kisan andolan: दिल्ली कूच रोकने के लिए तैयार है क्रेन और कंक्रीट की दीवार, तारों के जाल के बीच धारा 144 लागू

Farmers Protest: देश के किसान एक बार फिर से दिल्ली कूच कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के किसान संघों ने आंदोलन का ऐलान किया है. इसके चलते दिल्ली की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

auth-image
India Daily Live
फॉलो करें:

Farmers Protest: देश में एक बार फिर से किसान आंदोलन के मूड में हैं. अपनी मांगों को लेकर किसानों का विशाल हुजूम दिल्ली की ओर कूच कर चुका है. ट्रैक्टरों में सवार पंजाब और हरियाणा के किसान दिल्ली के बॉर्डर तक आ गए हैं. दावा है कि 200 से ज्यादा किसान संगठन इसमें हिस्सा लेंगे. दिल्ली की तीनों सीमाएं- सिंघु, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर को सील कर दिया गया है. इतना ही नहीं, पूरी दिल्ली में धारा-144 भी लगा दी गई है. 12 फरवरी से 12 मार्च तक धारा-144 लागू रहेगी. 

गाड़ियों की भी सख्त चेकिंग

दिल्ली पुलिस मे आदेश में कहा कि किसानों के मार्च के कारण तनाव और हिंसा फैलने का खतरा है. इसलिए शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए ये कदम उठाया गया है. आदेश के मुताबिक दिल्ली के भीतर रैली या जुलूस की अनुमति नहीं होंगी. किसी भी रास्ते को ब्लॉक करने की अनुमति नहीं होगी. लोगों का एक साथ जुटान पर प्रतिबंध होगा. उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली से आने-जाने वालीं गाड़ियों की भी सख्त चेकिंग की जाएगी. धार्मिक कार्यक्रम, शादी समारोह और अंतिम संस्कार के जुलूसों को तभी अनुमति दी जाएगी, जब अधिकारियों से इसकी अनुमति मांगी गई हो. 

कंक्रीट की दीवार,  तारों का जाल

पुलिस की कोशिश है कि किसानों को किसी भी तरह से दिल्ली में प्रवेश करने से रोका जाए. सिंघू, गाजीपुर और टिकरी बॉर्डर पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. इसेस इलाकों में यातायात की आवाजाही पर असर पड़ा जिससे यात्रियों को असुविधा हो रही है. पुलिस ने कंक्रीट की दीवार बना दी है. साथ ही सड़क पर नोंकीले तारों का जाल बिछा दिया गया है. इससे आने वाले वाहने के टायर फट जाएंगे. 

ट्रैफिक को लेकर एडवाइजरी जारी

किसानों और सरकार के बीच कई मांगों पर सहमति बनती नजर आ रही है. हालांकि MSP की गारंटी के मुद्दे पर बात फंस गई है.  अगर बात नहीं बनती है को किसान 13 फरवरी को धरने पर बैठ सकते हैं. ऐसे में दिल्ली-एनसीआर में कल यानी मंगलवार से जाम भी देखने को मिल सकता है. हालांक दिल्ली पुलिस ने ट्रैफिक को लेकर एडवाइजरी जारी कर दी है. सभी मुख्य बॉर्डरों के लिए यह ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की गई है. इसमें भारी वाहनों के दिल्ली में आवागमन पर रोक लगाई गई है. हल्के वाहनों के लिए मुख्य बॉर्डरों की बजाय आसपास के स्थानीय बॉर्डरों का प्रयोग दिल्ली में आवागमन के लिए प्रयोग करने की सलाह दी गई है. 

5,000 से अधिक सुरक्षा कर्मी तैनात

दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए रविवार को हरियाणा और उत्तर प्रदेश से लगती दिल्ली की सीमाओं का दौरा किया. विरोध-प्रदर्शन के चलते पुलिस ने 5,000 से अधिक सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया है जबकि सड़कों को रोकने के लिए क्रेन और अन्य भारी वाहनों को तैनात किया है.

First Published : 12 February 2024, 11:23 PM IST