menu-icon
India Daily
share--v1

रेमल तूफान को लेकर पीएम मोदी ने की अधिकारियों संग बैठक, लिया तैयारियों का जायजा

चक्रवाती तूफान रेमल आज रात पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटीय इलाकों से टकराएगा. तूफान के कारण भारी बारिश होने के आसार हैं. IMD ने तूफान को लेकर अलर्ट जारी किया है.

auth-image
India Daily Live
narendra modi
Courtesy: ani

Remal Cyclone Update:  प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को चक्रवाती तूफान रेमल को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की और तैयारियों का जायजा लिया. चक्रवाती रेमल एक भीषण तूफान में तब्दील हो गया है. आज यानी रविवार की रात को यह पश्चिम बंगाल  के तट और बांग्लादेश के खेपुपारा से टकराएगा. आईएमडी के मुताबिक, यह बंगाल की खाड़ी में इस बार मॉनसून की शुरुआत से पहले पहला चक्रवाती तूफान है. तूफान के पश्चिम बंगाल से टकराने के बाद 135 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाए चलने का अनुमान है.

पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश, ओडिशा के तटीय इलाकों में इस चक्रवाती तूफान के कारण भारी बारिश के आसार हैं. आईएमडी ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा से तटीय इलाकों में अत्यधिक बारिश की चेतावनी जारी जी है.

दर्जनों उड़ानें और ट्रेनें रद्द
रेमल तूफान के कारण कोलकाता एयरपोर्ट को 21 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है. कोलकाता एयरपोर्ट से रविवार दोपहर 12 बजे से सोमवार सुबह 9 बजे तक कोई फ्लाइट उड़ान नहीं भरेगी. उड़ानों के अलावा कोलकाता से दर्जनों ट्रेनों को भी रद्द किया गया है.

पश्चिम बंगाल में तैनात की गईं 9 आपदा राहत टीमें
चक्रवाती तूफान के पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ समेत 9 आपदा राहत टीमें तैनात की गई हैं और तटीय इलाकों को खाली कराया जा रहा है. संभावित प्रभावित इलाकों में से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है. इन सभी टीमों को स्टैंडबाय रखा गया है. इसके अलावा पूरे प्रदेश में पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है.

बांग्लादेश में स्थानांतरित किए गए 8 लाख लोग
बांग्लादेश में रेमल तूफान के कारण लगभग 8 लाख लोगों को स्थानांतरित किया गया है. इस चक्रवाती तूफान का सबसे ज्यादा असर पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश के तटीय इलाकों, त्रिपुरा, उत्तर पूर्व के राज्यों के कुछ इलाकों में होगा. प्रशासन ने लोगों से अतिरिक्त सावधानी बरतने और तूफान को लेकर पूरी तैयारी करने को कहा है.