menu-icon
India Daily
share--v1

Delhi Water Crisis: दिल्ली जल बोर्ड पर पथराव, पानी के लिए मटकाफोड़ प्रोटेस्ट, किस हाल में पहुंच गई राजधानी?

दिल्ली के छतरपुर स्थित दिल्ली जल बोर्ड के दफ्तर पर कुछ अज्ञात प्रदर्शनकारियों ने पथराव किया है. जल बोर्ड का दफ्तर क्षतिग्रस्त हो गया है. लोगों ने खिड़कियों के शीशे तोड़ डाले हैं. बोर्ड के अंदर टूटे हुए मटके नजर आ रहे हैं. दिल्ली में पानी का संकट बढ़ता जा रहा है. इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी मटकाफोड़ प्रदर्शन भी कर रही है. समझिए आखिर क्यों प्रदर्शनकारी महिलाओं का गुस्सा फूटा है.

auth-image
India Daily Live
Delhi Jal Board
Courtesy: Social Media

दिल्ली की जनता पानी के किल्लत से जूझ रही है. कई इलाकों में पानी खत्म हो चुका है और हीट वेव के इस कहर के बीच पानी नदारद है. दिल्ली सरकार की ओर से जो टैंक भेजे जा रहे हैं, उन्हें देखकर लूट मच रही है. पानी की किल्लत को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) दिल्ली की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार पर भड़की हुई है. महिला प्रदर्शनकारियों ने छतरपुर स्थित दिल्ली जल बोर्ड  कार्यालय में तोड़फोड़ की है. दिल्ली अपने सबसे बुरे जल संकट के दौर से जूझ रही है.

भारतीय जनता पार्टी अरविंद केजरीवाल सरकार के खिलाफ मटकाफोड़ प्रदर्शन कर रही है. बीजेपी का दावा है कि दिल्ली सरकार के कुछ अधिकारी और सीनियर नेता टैंकर माफियाओं को शरण दे रहे हैं. दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा है कि जब अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री बने थे, तब दिल्ली जल बोर्ड करोड़ों रुपये के मुनाफे में था, अब कर्ज में है.

वीरेंद्र सचदेवा का दावा है, 'अरविंद केजरीवाल को एक साल से ज्यादा वक्त तक जल बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया था. यह अजीब है कि एक साल से अधिक समय की ऑडिट रिपोर्ट गायब है और डीजेबी भारी कर्ज में है. AAP के सभी मंत्री पानी चुरा रहे हैं और दिल्ली में टैंकर माफिया चला रहे हैं.' दिल्ली में पानी के टैंकर के पीछे मारामारी हो रही है. लोग लंबी-लंबी कतारों में पानी का इंतजार कर रहे हैं, जहां टैंकर जाते हैं, वहां छीना-झपटी मच जाती है. सोशल मीडिया पर इसके विजुअल वायरल हो रहे हैं.

क्या कर रही है दिल्ली सरकार?

दिल्ली की जल मंत्री आतिशी ने रविवार को पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा को पत्र लिखा है. आतिशी ने कहा है कि 15 दिनों तक टैंकर को पुलिस सिक्योरिटी मिले. दिल्ली जल संकट से जूझ रही है. आतिशी ने लिखा है, 'यमुना में पानी की कमी की वजह से पानी का शोधन 70 एमजीडी कम हो गया है. दिल्ली के कई हिस्सों में पानी की किल्लत है. पानी की हर बूंद कीमती है.'

उन्होंने कहा, 'अभी दिल्ली में गंभीर हीटवेव भी चल रही है और पानी की कमी भी हो रही है. इस सब के दौरान ऐसा लग रहा है कि कुछ लोग पानी की पाइपलाइन तोड़ कर इस पानी की कमी को और बदतर बनाने का षड्यंत्र रच रहे हैं. कल साउथ दिल्ली की सप्लाई पाइप लाइन में बहुत बड़ा लीकेज हुआ. जब हमारी टीम को पता चला तो रिपेयर के लिए टीम भेजी गई तो वहां यह पाया गया कि बहुत बड़े-बड़े बोल्ट को काट कर छेद किया गया है. मैंने इसी संदर्भ में आज पुलिस कमिश्नर को लिखा है कि हमारी मुख्य पाइप लाइन को पुलिस द्वारा सुरक्षा दी जाए.'

 

क्या कह रही है बीजेपी?

BJP सांसद मनोज तिवारी ने कहा, 'हर साल यह जल संकट होता है. आतिशी किसे धोखा दे रही हैं? आतिशी श्वेत पत्र लेकर आएं कि 10 साल में कहां-कहां पाइप बदला गया. ये कामचोर लोग हैं, इनकी न तो काम करने की नीति है और न नीयत, ये बस खजाने को लूटना चाहते हैं जिसके कारण इन्हें सज़ा भी मिल रही है. मैं आतिशी से कहना चाहता हूं कि झूठ बोलने की भी एक सीमा होती  है. जरूरत से ज्यादा पानी दिया जा रहा है लेकिन क्या उनके पास पानी पहुंचाने का सिस्टम है? दिल्ली के लोग अब इन्हें सज़ा देंगे, दिल्ली को ये लोग नहीं चाहिए जो बहाने बनाए, दिल्ली को वे लोग चाहिए जो समस्या को दूर करें.'