menu-icon
India Daily
share--v1

 सरकारी दफ्तर में तोड़फोड़, भयंकर आगजनी, क्या है अमरगुफा जिसके लिए हिंसक हो गया सतनामी समाज? 

Chhattisgarh Protest: छत्तीसगढ़ के बलौदा बाजार में चल रहे सतनामी समाज के विरोध प्रदर्शन ने उग्र रूप ले लिया है. भारी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने कलेक्ट्रेट का घेराव किया और आगजनी की है.

auth-image
India Daily Live
Satnami samaj
Courtesy: Social Media

Chhattisgarh Protest:  छत्तीगढ़ के बलौदा बाजार में सोमवार को भारी संख्या में सतनामी समाज के लोगों ने कलेक्ट्रेट का घेराव कर लिया. इस दौरान उन्होंने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. बड़ी संख्या में एकत्रित होकर लोग दशहरा मैदान में विरोध जता रहे थे. विरोध देखते ही देखते उग्र प्रदर्शन में बदल गया. स्थिति की गंभीरता देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. यह प्रदर्शन धार्मिक प्रतीक अमर गुफा में तोड़फोड़ और जैतखाम को तोड़ने के विरोध में हो रहा है. इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है. 

इस विरोध प्रदर्शन में कई लोगों को चोट पहुंची है. कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं. मौके पर पहुंची दमकल विभाग की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की गई. भीड़ ने पुलिस की बैरिकेडिंग को भी तोड़ दिया.भीड़ ने लगभग 3 दर्जन मोटरसाइकिल और एक कार को क्षतिग्रस्त कर दिया है.

छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम विजय शर्मा ने कहा था कि पवित्र अमर गुफा में 15-16 मई की रात में पूज्य जैत खाम को क्षति पहुंचाने की कोशिश की गई. मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने वाली घटना की न्यायिक जांच कराने का निर्देश दिया है. 

 

क्या है पूरा मामला?

गिरौदपुरी धाम से 5 किमी दूर एक बस्ती मानाकोनी है. यहां पर एक पुरानी गुफा है, जिसे बाघिन गुफा के नाम से जाना जाता है.यहां किसी उपद्रवी ने सतनामी समाज के आस्था के प्रतीक श्वेत जैतखाम को क्षतिग्रस्त कर दिया. इस घटना की वजह से पूरे सतनामी समाज में आक्रोश है. यह सतनामी समाज का आस्था स्थल है. इसे ही अमर गुफा के नाम से जाना जाता है.इस घटना के बाद 17 मई को मंदिर के पुजारी ने चौकी गिरौदपुरी में इस घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. रिपोर्ट में कहा गया था कि किसी अज्ञात शख्स ने जैतखाम को नुकसान पहुंचाया है. 19 मई को बलौदा बाजार पुलिस ने कार्रवाई करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया था.

भारी संख्या में पुलिस बल तैनात 

सतनामी समाज के लोग इसी घटना पर उच्च स्तरीय जांच की मांग कर रहे थे. विरोध प्रदर्शन के बाद भी सरकार ने हाई लेवल कमेटी का गठन नहीं किया. इसके विरोध में उन्होंने आज कलेक्ट्रेट का घेराव कर लिया. रिपोर्ट के अनुसार, प्रदर्शनकारी एसडीएम ऑफिस में घुस गए. उन्होंने आस-पास की कई गाड़ियों को फूंक डाला. बलौदा बाजार के भवन में उन्होंने आग लगा दी. मौके पर भारी संख्या में पुलिस बलों को तैनात किया गया है.