menu-icon
India Daily
share--v1

तस्वीर में सबसे पीछे...कुछ मिनट बाद ही मुख्यमंत्री नामित किए गए, कैसे राजस्थान के CM बने भजनलाल

भजनलाल शर्मा पीछे की पंत्ति में खड़े थे. उन्हें भी अंदाजा नहीं था कि वे प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री बनने वाले हैं. छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश की तरह राजस्थान में भी सीएम के नाम का ऐलान चौंकाने वाला था.

auth-image
Gyanendra Sharma
Chief Minister Minutes

नई दिल्ली: राजस्थान मुख्यमंत्री के नाम के ऐलान के पहले बीजीप पर्यवेक्षकों का फोटो सेशन हो रहा था. इसमें भजनलाल शर्मा पीछे की पंत्ति में खड़े थे. उन्हें भी अंदाजा नहीं था कि वे प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री बनने वाले हैं. छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश की तरह राजस्थान में भी सीएम के नाम का ऐलान चौंकाने वाला था. किसी ने भजनलाल शर्मा के नाम की कल्पना भी नहीं की थी. 

नए सीएम के तौर पर भजनलाल शर्मा के नाम का ऐलान कितना चौंकाने वाला था, इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जब वसुंधरा राजे ने भजनलाल के नाम का प्रस्ताव रखा तो कुछ समय के लिए विधायक दल की बैठक में सन्नाटा छा गया. बाद में राजनाथ सिंह ने कहा- अगर कोई और भी नाम हो तो विधायक बता सकते हैं. 

 

राजस्थान सीएम की रेस में वसुंधरा राजे, बाबा बालकनाथ, गजेंद्र शेखावत, सीपी जोशी, दीया कुमारी, राजवर्धन राठौड़ जैसे नाम शामिल थे. लेकिन पार्टीहाईकमान ने भजनलाल के नाम को आगे बढ़ाया. राजस्थान में बीजेपी ने ब्राह्मण चेहरे को आगे बढ़ाया है.  कहा जा रहा है कि भजनलाल शर्मा को मुख्यमंत्री बनाए जाने के फैसले दिल्ली से लिया गया. पहले ही इसकी तैयारी कर ली गई थी. बताया जाता है कि पर्यवेक्षकों तक को बंद लिफाफा दिया गया था, जिसे विधायक दल की बैठक में ही खोला गया. 

कौन हैं भरतपुर के भजनलाल शर्मा?

भजनलाल शर्मा मूलत: भरतपुर के रहने वाले हैं. फिलहाल वे प्रदेश महामंत्री के पद पर भी थे. भजनलाल शर्मा संगठन में लंबे समय से कार्यरत हैं. वे प्रदेश महामंत्री के तौर पर कार्य करते रहे हैं. बीजेपी ने उन्हें पहली बार जयपुर की सांगानेर जैसी सुरक्षित सीट से चुनाव लड़ाया. मौजूदा विधायक अशोक लाहोटी का टिकट काटकर भजनलाल शर्मा को प्रत्याशी बनाया. सांगानेर सीट भाजपा का गढ़ है. लिहाजा भजनलाल शर्मा ने जीत दर्ज की. संगठन में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के लिए उन्हें मुख्यमंत्री पद का तोहफा देकर चौंकाया है. भजनलाल शर्मा ने कांग्रेस के पुष्पेंद्र भारद्वाज को 48081 वोटों से शिकस्त दी थी.

संगठन में पकड़

भजनलाल शर्मा 4 बार प्रदेश महामंत्री रहे हैं. RSS और ABVP से जुड़े रहे हैं. वे प्रदेश महामंत्री के तौर पर कार्य करते रहे हैं. सांगानेर से विधायक भजन लाल शर्मा की संगठन में मजबूत पकड़ है. शैक्षणिक योग्यता की बात करें तो भजनलाल शर्मा राजस्थान यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रैजुएट हैं. उन्होंने यहां से 1993 में पॉलिटिक्स में एम.ए की डिग्री हासिल की है.  राजस्थान में सीएम के नाम के एलान के साथ ही दो डिप्टी सीएम के नाम का एलान भी हो गया है. दीया कुमारी और प्रेम चंद्र बैरवा को उपमुख्यमंत्री बनाया जाएगा, जबकि वासुदेव देवनानी विधानसभा के स्पीकर होंगे.