menu-icon
India Daily
share--v1

Shark Tank India: 'भूख का एहसास आपको बहुत कुछ सिखाता है', अनुपम मित्तल ने सुनाई अपनी 'स्ट्रगल ए दास्तां'

Shark Tank India: शार्क अनुपम मित्तल ने सुनाई अपनी स्ट्रगल की दांस्ता और बताया कि उन्होंने काफी संघर्ष के बाद ये मुकाम हासिल किया है.

auth-image
India Daily Live
anupam mittal

नई दिल्ली: 'शार्क टैंक इंडिया' का तीसरा सीजन अब शुरू हो चुका है. ऐसे में हर कोई इसको लेकर काफी ज्यादा एक्साइटेड है. शो में आए दिन कोई न कोई पिचर्स या फिर शार्क सुर्खियों में रहते हैं. पिछले सीजन से बिजनेस टाइकून अनुपम मित्तल काफी लोकप्रियता बटोर रहे हैं. हाल ही में एक पॉडकास्ट में, उन्होंने अपने संघर्षों के बारे में खुलकर बात की जिसको सुनकर हर कोई हैरान है.

अनुपम मित्तल ने अपने संघर्ष के दिनों के बारे में बताया

अनुपम मित्तल ने दावा किया कि वह तीनों दिनों तक भूखे रहे थे क्योंकि उनके पास खाने को पैसे नहीं थे. अपने जीवन के शुरुआती दिनों को याद करते हुए Anupam Mittal ने बताया कि उनके पिता ने कपड़े का बिजनेस किया था लेकिन उससे उन्हें वो लाभ नहीं मिला. इसके बाद एक समय ऐसा भी आया जब अनुपम और उनके परिवार को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा.

अनुपम ने बताया, 'बचपन में हमें इसका एहसास नहीं था. लेकिन हम लगभग 20 लोग 1000 वर्ग फीट के घर में रह रहे थे. कोई डाइनिंग टेबल पर सो रहा होता था तो कोई उसके नीचे. हालांकि, बचपन में आप इन सब चीजों के बारे में नहीं सोचते हैं आप सिर्फ अपना बचपना एन्जॉय करते हैं.

2-3 दिन तक खाना नहीं खाया

वहीं अनुपम मित्तल ने बताया कि उनके पिता ने उनको अमेरिका पढ़ने के लिए भेजा जहां जाने के बाद भी उनको नौकरी नहीं मिली और वो ये बात घर पर नहीं बताना चाहते थे वरना उन्हें भारत वापस लौटना पड़ता. ऐसे में उन्होंने बताया कि 'वह पहली बार था जब मुझे भूख का एहसास हुआ. यह कुछ ऐसा है जो हर किसी को जीवन में एक बार जरूर करना चाहिए क्योंकि भूख का एहसास आपको बहुत कुछ सिखाता है. एक समय ऐसा था जब मैं 2-3 दिनों तक भूखा रहा था क्योंकि मैं खाना नहीं खरीद पा रहा था. दोस्तों ने मदद की लेकिन कुछ समय बाद मुझे भी बुरा लगने लगा. मैं सड़कों पर नहीं था लेकिन मेरे पास संसाधनों की कमी थी.'