share--v1

Mumbai Local Train Canceled: अंतिम संस्कार में चले गए सैकड़ों मोटरमैन, 147 ट्रेनें हुईं रद्द, घंटों परेशान रहे मुंबईकर

मोटरमैनों अपने सहकर्मी के अंतिम संस्कार में चले गए जिसके कारण मुंबई लोकल ट्रेन नेटवर्क की सेंट्रल और हारबर लाइन पर ट्रेन सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुईं और यात्रियों को घंटों भारी परेशानी का सामना करना पड़ा.

auth-image
India Daily Live
फॉलो करें:

Mumbai Local Train Canceled:  10 फरवरी की शाम मुंबईकरों के लिए आफत लेकर आई. शाम का वक्त था, हजारों- लाखों यात्री अपने काम से लौटकर मुंबई की लाइफलाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेनों में सवार होने का इंतजार कर ही रहे थे कि अचानक से 147 ट्रेनों के कैंसिल होने की खबर का ऐलान कर दिया गया.

इतनी बड़ी संख्या में ट्रेन कैंसिल होने से मुंबई लोकल के यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा. हजारों-लाखों यात्री घंटों तक प्लेटफॉर्म पर ही फंसे रहे. बाद में पता चला कि एक मोटरमैन की अचानक मृत्यु होने के कारण सभी मोटरमैन उसकी अंतिम यात्रा में शामिल होने के लिए चले गए हैं, जिसकी वजह से ट्रेनों को कैंसिल करना पड़ा है.

ट्रेन की चपेट में आने से हो गई थी मौत

हुआ ये कि 9 फरवरी को भायखला और सैंडहर्स्ट रोड स्टेशन के बीच 54 साल के मोटरमैन मुरलीधर शर्मा रेलवे ट्रैक पार कर रहे थे तभी अचानक वह ट्रेन की चपेट में आ गए और उनकी मौत हो गई. उत्तर प्रदेश के आगरा के निवासी शर्मा 2002 में सेंट्रल रेलवे में शामिल हुए थे और नवंबर 2022 में मोटरमैन के रूप में प्रमोशन हुआ था.

काम छोड़कर अंतिम संस्कार में चले गए सैकड़ों मोटरमैन

करीब 500 रेल कर्मचारी शर्मा के अंतिम संस्कार में शामिल हुए जिसमें से 100 से ज्यादा मोटरमैन थे. मोटरमैनों के बड़ी संख्या में अपने सहयोगी मुरलीधर शर्मा के अंतिम संस्कार में शामिल होने से ट्रेनों की आवाजाही में देरी हुई. मामले के जानकार एक अधिकारी ने बताया कि इस वजह से 88 लोकल ट्रेनों सहित 147 ट्रेनें रद्द कर दी गईं.

अंतिम संस्कार में हुई देरी

अधिकारी ने बताया कि मुरलीधर का अंतिम संस्कार दोपहर में होना था लेकिन वह शाम को हो सका जिससे मोटरमैन समय पर लौट नहीं पाए. शर्मा अपने घर में इकलौते कमाने वाले थे. वे अपने पीछे अपने दो बच्चों को छोड़ गए हैं.  उनका एक 12 साल का बेटा और एक 10 साल की बेटी है. ट्रेनें रद्द होने के कारण यात्री बड़ी संख्या में CSMT और अन्य स्टेशनों में फंसे रहे और उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ा.

यह भी देखें

Also Read

First Published : 11 February 2024, 02:47 PM IST