share--v1

पाकिस्तान ने 1971 की युद्ध में हार के बाद PNS Siddique का किया था निर्माण, जानें  रणनीतिक लिहाज से क्यों है इतना महत्वपूर्ण

PAK PNS Siddique Attacked: पाकिस्तान के दूसरे सबसे बड़े एयरपोर्ट और नेवल एयरबेस पीएनएस सिद्दीकी पर आतंकी हमला हुआ है. हमले की जिम्मेदारी बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी की मजीद ब्रिगेड ने ली है. जानकारों की मानें तो रणनीति के लिहाज से पीएनएस सिद्दीकी पाकिस्तान का सबसे सुरक्षित और आधुनिक नौसेना बेस है.

auth-image
India Daily Live

PAK PNS Siddique Attacked: पाकिस्तान के दूसरे सबसे बड़े और रणनीतिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण पीएनएस सिद्दीकी (PNS Siddique) नौसेना एयरबेस पर आतंकी हमला हुआ है. आतंकियों ने सोमवार रात पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत में के तुर्बत अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट और नौसेना एयरबेस पर किया. खबरों के मुताबिक हमले में सिद्दीक एयरबेस को कोई खास नुकसान नहीं पहुंचा है. बताया जा रहा है कि जैसे ही आतंकियों ने तुर्बत जिले के पीएनएस सिद्दीकी नेवल एयरबेस में घुसने की कोशिश की, वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें पहचान लिया और उनको मार गिराया. इस हमले में अब तक 12 लोगों के मारे जाने खबर है.

पीएनएस सिद्दीकी आधुनिक नौसैनिक हवाई स्टेशन होने के साथ-साथ पाकिस्तान का एक महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भी है. यहां से मस्कट, शारजाह, कराची, ग्वादर, डालबैंडियन समेत कई जगहों के लिए नियमित प्लेन उड़ान भरते हैं.

पाकिस्तान का सबसे सुरक्षित अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है पीएनएस सिद्दीकी

पीएनएस सिद्दीकी पाकिस्तान का दूसरे सबसे बड़े एयरपोर्ट और नेवल एयर बेस है. रणनीतिक लिहाज से यह पाक सेना के लिए काफी महत्वपूर्ण स्थान0 है. यह बलूचिस्तान के मकरान के तुर्बत शहर में स्थित है. यह पास्कितान के चार सबसे बड़े नेवी एयर बेस में से एक है. पीएनएस मेहरान (PNS Mehran) पाकिस्तान के सबसे बड़ा नेवल एयर बेस है,जबकि पीएनएस मकरान (PNS Makran)और नेवल एयर स्टेशन ओरमारा (Naval Air Station Ormara) तीसरे-चौथे नंबर पर है.

1971 भारत-पाक युद्ध के बाद किया गया निर्माण

पीएनएस सिद्दीकी नेवल एयर बेस का निर्माण 1971 भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद किया गया. 1971 के युद्ध में कराची पर भारतीय नौसेना के हमले के  बाद पाकिस्तान की कमजोरी खुलकर सामने आ गई थी. इसके बाद रणनीति के लिहाज से भीड़भाड़ वाले कराची शहर से दूर पीएनएस सिद्दीकी नेवल एयर बेस का पाकिस्तान ने निर्माण किया. यह नेवी एयर बेस तमाम आधुनिक सुविधाओं सुरक्षा के उपकरणों से लैस है. यहां के रनवे पर एक साथ कई बड़े जहाज उतरने के साथ-साथ उड़ान भर सकते हैं.

PAK नौसेना के मॉडर्न हथियारों से लैस

आधुनिक सुविधाओं से लैस पीएनएस सिद्दीकी नेवल एयर बेस के संचालन से पाकिस्तान नेवी का पीएनएस मेहरान पर निर्भरता कम हुई. तुर्बत में इस रणनीतिक बेस पर लॉकहीड मार्टिन पी-3सी ओरियन जैसी मेरीटाइम पेट्रोलिंग एयरक्राफ्ट तैनात है. बताया जाता है कि पाकिस्तान नौसेना के मॉडर्न हथियार यहां रखे हुए हैं.

पीएनएस सिद्दीकी का सुरक्षा है अभेद

पाकिस्तान के सबसे सुरक्षित माने जाने वाले  पीएनएस सिद्दीकी पर हमला इसके सुरक्षा की पोल खोलता है. बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी मजीद ब्रिगेड ने पीएनएस सिद्दीकी हवाई अड्डे पर हमले की जिम्मेदारी ली है. ये लोग पाकिस्तान और चीन पर लंबे अरसे से यहां के संसाधनों का दोहन करने का भी आरोप लगाते आ रहे हैं.  

मजीद ब्रिगेड का बलूचिस्तान में चीनी निवेश का विरोध

इसी कड़ी में मजीद ब्रिगेड बलूचिस्तान में चीनी निवेश का भी विरोध कर रही है. बलूचिस्तान में चीन निवेश से बीएलए (BLA) खुश नहीं है. आपको बता दें कि बीएलए मजीद ब्रिगेड का तुर्बत में सप्ताह का दूसरा और इस साल का का ये तीसरा हमला है. इससे पहले, बीएलए ने 29 जनवरी को माच शहर और इसके बाद 20 मार्च को ग्वादर में सैन्य खुफिया मुख्यालय को अपना निशाना बनाया था. 

Also Read