menu-icon
India Daily
share--v1

504 करोड़पति, 251 के खिलाफ आपराधिक मुकदमे, जान लीजिए कैसे हैं 2024 में जीते सांसद

ADR Report: लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद जीते हुए सांसदों का कच्चा चिट्ठा सामने आने लगा है. इस बार आपराधिक छवि वाले सांसदों की संख्या में इजाफा हुआ है और सांसदों की औसत संपत्ति भी काफी बढ़ गई है. कई पार्टियां ऐसी भी हैं जिनके सभी सांसद करोड़पति ही है.

auth-image
Nilesh Mishra
Lok Sabha MPs
Courtesy: India Daily Live

लोकसभा चुनाव के नतीजे आए दो दिन हो चुके हैं. कुल 543 प्रतिनिधि देश की संसद के लिए चुन लिए गए हैं. इसमें ज्यादातर सांसद करोड़पति हैं. लगभग आधे सांसद ऐसे हैं जिनके खिलाफ आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं. सैकड़ों सांसद ऐसे भी हैं जिनके खिलाफ हत्या और अपहरण जैसे गंभीर मामलों में मुकदमे चल रहे हैं. कई ऐसे नेता भी संसद पहुंच गए हैं जिन्हें किसी न किसी मामले में सजा हो चुकी है और कोर्ट से उनकी सजा पर रोक लगी हुई है. सैकड़ों सांसद ऐसे भी हैं जो बेहद कम पढ़े लिखे हैं. इस बार सिर्फ एक सांसद ऐसे हैं जिनकी उम्र 82 साल है. 2024 में कुल 214 सांसद ऐसे चुने गए हैं जो इससे पहले भी संसद पहुंच चुके हैं.

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रैटिक रिफॉर्म्स की रिपोर्ट के मुताबिक, 543 में से 251 सांसद ऐसे हैं जिनके खिलाफ आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं. कुल 170 सांसद ऐसे भी हैं जिनके खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले चल रहे हैं. कुल 504 सांसद ऐसे चुने गए हैं जो करोड़पति हैं. कुल 543 सांसदों की औसत संपत्ति 46,34 करोड़ रुपये है. ADR ने यह रिपोर्ट इन नेताओं द्वारा दिए गए एफिडेविट के आधार पर ही तैयार की है.

2014 से 2024 में कितने बढ़े या घटे आपराधिक छवि वाले सांसद?

2014 में 185 सांसद ऐसे थे जिनके खिलाफ आपराधिक मुकदमे चल रहे थे. 2019 में कुल 233 सांसद ऐसे थे. इस बार यानी 2024 में इनकी संख्या बढ़कर 251 पहुंच गई है.2009 में यह संख्या सिर्फ 162 थी. यानी 2009 से 2024 तक आपराधिक छवि वाले सांसदों की संख्या में 55 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. 2009 में गंभीर आपराधिक छवि वाले कुल 76 सांसद थे. 2014 में 112, 2019 में 159 और 2024 में यह संख्या 170 तक पहुंच गई है.

गंभीर आपराधिक मामले क्या हैं?

एडीआर ने अपनी रिपोर्ट में उन लोगों के खिलाफ दर्ज मुकदमों को गंभीर आपराधिक मामलों की श्रेणी में रखा है जिनके खिलाफ हत्या, अपहरण, रेप या हत्या के प्रयास जैसे मामले चल रहे हैं. इसके अलावा, गैर जमानती अपराधों या 5 साल से ज्यादा की सजा वाले अपराधों को भी इसी श्रेणी में रखा गया है. नियमों के मुताबिक, अगर किसी को 2 साल की सजा हो जाती है तो वह चुनाव नहीं लड़ सकता. अगर वह चुनाव जीत चुका है तो उसकी सांसदी खत्म हो सकती है.

किसके खिलाफ दर्ज हैं सबसे ज्यादा केस?

मुकदमों की बात करें तो केरल की इडुक्की सीट से जीते कांग्रेस के नेता डीन कुरिकोस के खिलाफ कुल 88 केस पेंडिंग हैं. 18 मामलों में दोष सिद्धि भी हो चुकी है. दूसरे नंबर पर भी कांग्रेस के ही शफी परंबिल हैं जिनके खिलाफ 47 केस हैं. तीसरे नंबर पर बीजेपी के ई राजेंद्र (45 केस), चौथे पर पूर्णिया से जीते पप्पू यादव (41 केस), पांचवें नंबर पर झारखंड के धनबाद से जीते डुलु महतो (22 केस) और छठे नंबर पर राहुल गांधी हैं जिनके खिलाफ 18 केस पेंडिंग हैं. 

पार्टी के हिसाब से देखें तो बीजेपी के 240 में 94, कांग्रेस के 99 में से 49, सपा के 37 में से 21, टीएमसीके 29 में से 13, डीएमके के 22 में से 13, टीडीपी के 16 में से 8 और शिवसेना के 7 में से 5 सांसद ऐसे हैं जिनके खिलाफ आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं.

करोड़पतियों की भरमार

इस बार की संसद में पहुंचे 93 प्रतिशत सांसद करोड़पति हैं. 2009 में यह प्रतिशत 58 पर्सेंट, 2014 में 82 पर्सेंट और 2019 में 88 पर्सेंट था. टीडीपी के 16 के 16 और जेडीयू के 12 के 12 सांसद करोड़पति हैं. शिवसेना, शिवसेना (UBT), आरजेडी, AAP, IUML और एनसीपी के भी सभी सांसद करोड़पति हैं. 

बीजेपी के 240 में से 227 यानी 95 पर्सेंट सांसद करोड़पति हैं. कांग्रेस के 99 में से 92 सांसद यानी 93 पर्सेंट करोड़पति हैं. डीएमके के 22 में से 21, टीएमसी के 29 में से 27 और सपा के 37 में से 34 सांसद करोड़पति हैं.

कौन है सबसे अमीर सांसद?

2024 में जीते सांसदों में सबसे अमीर टीडीपी के चंद्रशेखर पेम्मासानी हैं. गुंटूर से जीते चंद्रशेखर की घोषित संपत्ति 5705 करोड़ रुपये है. दूसरे नंबर पर तेलंगाना की चेवेल्ला लोकसभा सीट से जीते कोंडा विश्वेश्वर रेड्डी हैं. उनकी कुल संपत्ति 4568 करोड़ रुपये है. तीसरे नंबर पर हरियाणा की कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट से जीते बीजेपी सांसद नवीन जिंदल हैं. नवीन जिंदल की कुल संपत्ति 1241 करोड़ रुपये है.

सबसे कम संपत्ति वाले सांसद ज्योतिर्मय सिंह महतो हैं. वह पश्चिम बंगाल की पुरुलिया सीट से बीजेपी के टिकट पर जीते हैं. उनकी कुल संपत्ति 5.95 लाख रुपये है. बंगाल की आरामबाग सीट से जीती मिताली बाग दूसरे नंबर पर हैं और उनकी कुल संपत्ति 7.84 लाख है. यूपी की मछलीशहर सीट से जीतीं सपा की प्रिया सरोज की कुल संपत्ति 11.25 लाख रुपये है.

क्या कहती है यह रिपोर्ट?

  • 105 सांसद ऐसे हैं जिनकी शैक्षिक योग्यता 5वीं से 12वीं कक्षा के बीच है.
  • 420 सांसद ग्रैजुएशन या इससे ज्यादा पढ़े-लिखे हैं.
  • 58 सांसदों की उम्र 25 से 40 साल के बीच है.
  • 280 सांसद 41 से 60 साल के हैं.
  • 204 सांसद 61 से 80 साल की उम्र के हैं.
  • सिर्फ एक सांसद ऐसे हैं जिनकी उम्र 82 साल है.
  • कुल 74 महिला सांसद 2024 में चुनी गई हैं, इस तरह महिला सांसदों का प्रतिशत 14 है.
  • 214 सांसद ऐसे हैं जो फिर से संसद पहुंचे हैं