menu-icon
India Daily
share--v1

'फोन हैक करा रही है मोदी सरकार', एप्पल के अलर्ट के बाद राहुल गांधी-शशि थरूर के बयान से मचा बवाल

आप नेता राघव चड्ढा, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, शशि थरूर, AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी समेत विपक्ष के कई बड़े नेताओं ने मोदी सरकार पर उनके फोन हैक करने का आरोप लगाया है.

auth-image
Sagar Bhardwaj
'फोन हैक करा रही है मोदी सरकार', एप्पल के अलर्ट के बाद राहुल गांधी-शशि थरूर के बयान से मचा बवाल

 Phone Hacking: आप नेता राघव चड्ढा, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, शशि थरूर, AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी समेत विपक्ष के कई बड़े नेताओं ने मोदी सरकार पर उनके फोन हैक करने का आरोप लगाया है. दरअसल, विपक्षी दलों के कई बड़े नेताओं और कुछ पत्रकारों को उनके आईफोन पर एक अलर्ट आया है, इसमें लिखा गया है, 'एप्पल का मानना है कि आपको राज्य-प्रायोजित हमलावरों द्वारा निशाना बनाया जा रहा है जो आपके एप्पल आईडी से जुड़े आईफोन को खतरे में डालने की कोशिश कर रहे हैं.'

एप्पल ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा, शिवसेना यूबीटी सांसद प्रियंका चतुर्वेदी, आप नेता राघव चड्ढा, कांग्रेस सांसद शशि थरूर, AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी, सीपीआईएम महासचिव व पूर्व सांसद सीताराम येचुरी, कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा, द वायर के संपादक सिद्धार्थ वरदराजन,  डेक्कन क्रॉनिकल के संपादक श्रीराम कर्री, ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन के अध्यक्ष समीर सरन और स्वतंत्र पत्रकार रेवती को ये मैसेज भेजा है.

इन तमाम विपक्षी नेताओं और पत्रकारों ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर इसकी जानकारी दी है. टीएमसी नेता महुआ मोइत्रा ने ट्वीट कर लिखा, 'एप्पल की तरफ से मुझे टेक्स्ट मैसेज और मेल के जरिए वॉर्निंग दी गई है कि सरकार मेरे फोन को हैक करने की कोशिश कर रही है.'

महुआ मोइत्रा ने एक अन्य ट्वीट करते हुए लिखा, 'मैं आधिकारिक तौर पर लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से लिखित में गुजारिश करती हूं कि वे राजधर्म निभाते हुए विपक्षी सांसदों की रक्षा करें और गृह मंत्रालय के अधिकारियों से जल्द से जल्द बात करें.'

शिवसेना यूबीटी सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट कर लिखा, 'मुझे भी अलर्ट मैसेज भेजा गया है. क्या गृह मंत्रालय इस मामले की जांच करेगा? यह मैसेज सिर्फ मुझे ही नहीं महुआ मोइत्रा को भी आया है.'

वहीं अलर्ट के मैसेज को लेकर AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर लिखा, 'मेरे फोन पर ऐप्पल नोटिफिकेशन थ्रेट आया है. शायद हैकर्स मेरा फोन टार्गेट कर रहे हैं.' ओवैसी ने दाग देहलवी का एक शेर ट्वीट करते हुए लिखा-  खूब पर्दा है कि चिलमन से लगे बैठे हैं, साफ छुपते भी नहीं सामने आते भी नहीं.

वहीं स्वतंत्र पत्रकार रेवती ने ट्वीट कर लिखा- मेरे फोन पर पिछली रात ये मैसेज आया. ये पहली बार नहीं है, फिर से असुरक्षित महसूस हुआ है.

जासूसी किस लिए- अखिलेश यादव


इस पूरे मामले पर समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेस यादव ने लिखा- बड़े दुख की बात है. सुबह ये जानकारी मिली और इस प्रकार का मैसेज कंपनी के जरिए से आया है. मैसेज में बताया जा रहा है कि स्टेट की ओर से आपका फोन है किया जा रहा है. दुख की बात है कि लोकतंत्र में आजादी और निजता को भी ये खत्म करना चाहते हैं. आखिर जासूसी किस लिए? इसकी जांच होनी चाहिए.

जमकर बरसे राहुल गांधी

राहुल गांधी ने भी फोन हैकिंग को लेकर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि मेरा फोन ले जाओ, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता....हम झुकेंगे नहीं, हम लड़ते रहेंगे. उन्होंने कहा कि यह अडाणी के मुद्दे से भटकाने की कोशिश है देश को मोदी नहीं अडाणी चला रहे हैं. राहुल गांधी ने कहा कि मेरे ऑफिस के कई लोगों के पास फोन हैकिंग का मैसेज आया है. हमें सरकार प्रायोजित हैकर्स द्वारा निशाना बनाया गया है. उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान के भविष्य के लिए सबसे जरूरी चीज न्याय है, अगर न्याय नहीं मिलेगा तो देश आगे नहीं बढ़ेगा.

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने टोंक से नामांकन किया दाखिल, सीएम फेस के सवाल पर कही ये बात