menu-icon
India Daily
share--v1

राहुल गांधी के बयान पर Kiren Rijiju का पलटवार, बोले- सुरक्षित हैं सीमाएं, टुकड़े-टुकड़े गैंग पर ना करें भरोसा

किरेन रिजिजू ने कहा है कि सशस्त्र बल भारत के क्षेत्रों की रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम हैं. उन्होंने ये भी कहा कि स्वार्थी लोगों और टुकड़े-टुकड़े गिरोह के सदस्यों के झूठे प्रचार पर विश्वास ना करें

auth-image
Abhiranjan Kumar
राहुल गांधी के बयान पर Kiren Rijiju का पलटवार, बोले- सुरक्षित हैं सीमाएं, टुकड़े-टुकड़े गैंग पर ना करें भरोसा

Kiren Rijiju  Reply to Rahul Gandhi: चीन के मुद्दे को लेकर विपक्ष खासकर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) केंद्र सरकार पर हमलावर नजर आ रहे हैं. बुधवार को भी राहुल गांधी ने चीन के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को निशाने पर लिया था. राहुल गांधी ने कहा कि मैं अभी लद्दाख से आया हूं, मैं सालों से कह रहा हूं कि प्रधानमंत्री ने जो कहा कि लद्दाख में एक इंच जमीन नहीं गई, वो झूठ है. चीन ने हमारी जमीन हड़प ली है. ये मानचित्र का मामला बेहद गंभीर है. उन्होंने जमीन छीन ली है. प्रधानमंत्री को इस बारे में कुछ कहना चाहिए. अब राहुल के इसी बयान का जवाब बीजेपी नेता किरेन रिजिजू (Kiren Rijiju) ने दिया है.  

सुरक्षित हैं सीमाएं

किरेन रिजिजू ने कहा कि सशस्त्र बल भारत के क्षेत्रों की रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम हैं. किरेन रिजिजू ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले के कामेंग सेक्टर की अपनी हालिया यात्रा का एक वीडियो भी साझा किया. वीडियो में उन्हें सुरक्षा बलों के साथ बातचीत करते हुए देखा जा सकता है, जबकि बैकग्राउंड में 'कर चले, हम फिदा' गाना बज रहा है. इस दौरान किरेन रिजिजू ने कह ''स्वार्थी लोगों और टुकड़े-टुकड़े गिरोह के सदस्यों के झूठे प्रचार पर विश्वास ना करें. हमारी सीमाएं बहुत सुरक्षित हैं और हमारे सशस्त्र बल हमारे क्षेत्रों की रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम हैं.''

 

पीएम ने उलट दी कांग्रेस की नीति

किरेन रिजिजू ने इस दौरान ये भी कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने सीमा पर बुनियादी ढांचे का विकास ना करने की कांग्रेस पार्टी की नीति को उलट दिया है. अब सीमा के इलाकों में सड़कें और महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे जरूरत के मुताबिक बनाए जाते हैं.

यह भी पढ़ें: Pew Survey: PM नरेंद्र मोदी को पसंद करते हैं 80 फीसदी भारतीय, दुनिया में बढ़ा भारत का दबदबा