उल्लू के झुंड को कहा जाता है 'Parliament', जानें रोचक तथ्य


उल्लू को मूर्ख पक्षी माना जाता है

    भारत में उल्लू को मूर्ख पक्षी माना जाता है. इसे अपशगुन के तौर भी देखा जाता है. हालांकि कई देशों मे उल्ली को एक बुद्धिमान पक्षी मानते हैं.

लक्ष्मी की सवारी

    भारत में उल्लू को लक्ष्मी की सवारी तो विदेश में इसे ज्ञान की देवी माना जाता है. उल्लू भारत में बेशक उल्लू माना जाता हो लेकिन वो बुद्धिमान व्यवहार करने में सक्षम हैं.

उल्लुओं का दिमाग

    उल्लुओं का दिमाग बड़ा और देखने और सुनने की क्षमता अच्छी होती है. वैसे उनकी आंखें शायद किसी भी पक्षी की तुलना में कुछ ज्यादा ही बड़ी होती हैं, उसकी तुलना में दिमाग छोटा होता है.

वफादार पार्टनर होता है उल्लू

    उल्लू अपनी गर्दन को 270 डिग्री तक मोड़ सकता है. वह अपने साथी का बहुत वफादार पार्टनर बनता है यानि अगर उसने किसी के साथ जीने की कसम खा ली तो फिर उससे दगाबाजी नहीं करता, जैसा दूसरे पक्षियों में खूब मिलता है.

उल्लुओं के समूह को 'संसद कहा जाता है

    उल्लुओं के समूह को "संसद" (parliament) कहा जाता है. क्योंकि वहां उल्लुओं को बुद्धिमान माना जाता है. बुद्धिमान नेता जहां एक साथ बैठते हैं उस जगह को यूनान में संसद कहा जाता है.

ग्रीक लेखक ने बताया बुद्धिमान

    ग्रीक लेखक ईसप ने ईसप की दंतकथाओं में उल्लुओं को बुद्धिमान बताया था. शेक्सपियर की रचनाओं में उल्लुओं का सकारात्मक संदर्भ दिया गया है.

200 से अधिक प्रजातियां

    दुनियाभर में उल्लुओं की 200 से अधिक प्रजातियां लगभग 27 प्रजातियों में विभाजित हैं. उल्लू अंटार्कटिका को छोड़कर हर महाद्वीप पर रहते हैं.

रात में उल्लू की चीख को राक्षसी माना जाता है

    यूरोप में मध्य युग तक, उल्लुओं को मुख्य रूप से मृत्यु के अग्रदूत के रूप में देखा जाता था. रात में उल्लू की चीख को राक्षसी माना जाता था.

भारत में बलि की प्रथा

    भारत में दशहरा और दिवाली पर हजारों उल्लुओं की बलि दी जाती है.

View More Web Stories