राजधानी दिल्ली के पास कैसे बसा था नोएडा शहर


किसी पहचान का मोहताज नहीं नोएडा

    दिल्ली से सटा नोएडा शहर आज किसी पहचान की मोहताज नहीं है.

Credit: Google

इंटरनेशनल एयरपोर्ट से मिली पहचान

    इंटरनेशनल एयरपोर्ट, फिल्म सिटी और अद्वितीय विकास कार्यों के कारण इस शहर की ख्याति अब विदेशों तक भी जा पहुंची है.

Credit: Google

कब और कैसे हुआ था नोएडा का जन्म

    17 अप्रैल 1976 को नोएडा शहर की स्थापना हुई थी.

Credit: Google

संजय गांधी ने दिया था आइडिया

    अपने विमान से दिल्ली आते समय जब संजय गांधी की नजर दिल्ली से सटे यमुना किनारे के खेतों पर पड़ी तो उन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी को औद्योगिक विकास के लिए शहर बसाने का आइडिया दिया था.

Credit: Google

दिल्ली के प्रदूषण को कम करना था उद्देश्य

    उस समय दिल्ली की आबादी बढ़ रही थी, फैक्ट्रियों के कारण वहां प्रदूषण भी बढ़ने लगा था. संजय यहां की फैक्ट्रियों को कहीं और बसाकर दिल्ली का प्रदूषण करना चाहते थे.

Credit: Google

एनडी तिवारी ने तुंरत दी मंजूरी

    संजय गांधी का आदेश मिलते ही यूपी सीएम एन डी तिवारी ने तुरंत नोएडा शहर बसाने की मंजूरी दे दी.

Credit: Google

कितने रुपए में ली गई थी किसानों से जमीन

    कहा जाता है कि किसानों से 3-4 रुपए प्रति गज की दर पर जमीन खरीदी गई थी. हालांकि किसानों ने इसका विरोध किया था और मुआवजा लेने से इंकार कर दिया था.

Credit: Google

कैसे बना ग्रेटर नोएडा

    1976 में नोएडा शहर बनने के बाद 1990 में इसका विस्तार किया गया जिसे ग्रेटर नोएडा कहा जाता है.

Credit: Google

फिर होगा नोएडा का विस्तार

    एक बार फिर से नोएडा का विस्तार किया जा रहा है. दादरी से लेकर खुर्जा तक अब इसमें 80 और गांव नोएडा अथॉरिटी क्षेत्र में शामिल किए गए हैं.

Credit: Google
More Stories