क्या है जिम्बाब्वे की नई करेंसी Zig, जानें इसकी खासियत ?


जिम्बाब्वे

    अप्रैल के महीने में जिम्बाब्वे ने दुनिया की सबसे नई मुद्रा 'जिग' पेश की थी. इस करेंसी को पुरानी मुद्रा के जगह लाया गया है.

Credit: Social Media

'जिग' करेंसी

    पहले 'जिग' करेंसी को इलेक्ट्रॉनिक रूप से पेश किया था लेकिन अब नोट और सिक्के के रूप में उपयोग किया जा सकता है.

Credit: Social Media

दक्षिण अफ्रीक

    यह कदम दक्षिणअफ्रीकी देश लंबे समय से मुद्रा को लेकर दिक्कतों को रोकने के लिया गया था.

Credit: Social Media

स्वीकार करने से किया इनकार

    'जिग' जिम्बाब्वे गोल्ड का छोटा नाम है और देश के स्वर्ण भंडार द्वारा समर्थित है. लेकिन फिर भी लोग इसपर भरोसा नहीं कर रहें. यहां तक कुछ सरकारी विभागों ने भी स्वीकार करने के लिए मना कर दिया है.

Credit: Social Media

छठी मुद्रा है 'जिग'

    साल 2009 में जिम्बाब्वे डॉलर के बंद होने के बाद यह यह छठी मुद्रा है. लोगों को अभी भी अमेरिकी डॉलर सुरक्षित लग रही है.

Credit: Social Media

सरकार ने दी इजाजत

    गैस स्टेशनों जैसे कुछ बिजनेस को 'जिग' स्वीकार करने से मना करने की इजाजत दे दी है. इसके अलावा पासपोर्ट डिपार्टमेंट जैसे कुछ सरकारी ऑफिस भी सिर्फ अमेरिकी डॉलर स्वीकार कर रहे हैं.

Credit: Social Media

5 अरब परसेंट बढ़ी महंगाई

    जिम्बाब्वे में साल 2009 में 5 अरब परसेंट महंगाई बढ़ गई जिसके वजह से अर्थव्यवस्था तबाह हो गई.

Credit: Social Media

क्यों लिया यह फैसला?

    अर्थव्यवस्था ठीक करने के लिए कई बार मुद्रा जारी की गई. लेकिन इसके बाद भी वहां स्थिति ठीक नहीं हुई है.

Credit: Social Media

स्वीकार न करने का फैसला

    खबर के अनुसार, वहां के एक सब्जी वाले ने बताया कि वह अपनी सब्जियां न बेचने के लिए है लेकिन वह नई मुद्रा को स्वीकार नहीं करेंगे.

Credit: Social Media
More Stories