इस्लाम में मृत्यु के बाद कैसे किया जाता है सुपुर्द-ए-खाक


2024/03/30 09:06:55 IST

सुपुर्द-ए-खाक क्या है

    जब किसी मुसलमान व्यक्ति की मृत्यु होती है और उसका अंतिम संस्कार इस्लाम के तौर तरीकों से होता है तो उसको सुपुर्द-ए-खाक कहते हैं.

Credit: google

जलाया नहीं दफनाया जाता है

    इस्लाम में शव को जलाया नहीं बल्कि दफनाया जाता है.

Credit: google

गुस्ल

    जब किसी मृत मुस्लमान व्यक्ति को दफ्न किया जाता है उससे पहले उसे गुस्ल दिया जाता है. गुस्ल मतलब नहाना होता है.

Credit: google

कफन पहनाना

    गुस्ल के बाद शव को कफन पहनाया जाता है.

Credit: google

नमाज अदा

    कफन लपेटे जाने के बाद शव को मस्जिद या कब्रिस्तान नमाज अदा करने के लिए ले जाया जाता है.

Credit: google

कब्र में दफ्न

    नमाज अदा करने के बाद शव को कब्र में दफ्न कर दिया जाता है.

Credit: google

अंतिम संस्कार की रस्में

    इस तरह से एक मुसलमान व्यक्ति के अंतिम संस्कार की रस्में पूरी होती हैं.

Credit: google

सुपुर्द-ए-खाक

    आज माफिया मुख्तार अंसारी की भी सुपुर्द-ए-खाक है.

Credit: google
More Stories